बड़ीखबर: केजरीवाल के समर्थन में उतरे चार CM, ममता बोलीं- PM से करेंगे बात…

नई दिल्ली । उपराज्यपाल दफ्तर में पिछले तीन दिनों से धरना दे रहे सीएम अरविंद केजरीवाल को चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने समर्थन देने का ऐलान किया। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने केजरीवाल ने संयुक्त प्रेसवार्ता कर कहा कि वो केंद्र सरकार से इस मामले को जल्द सुलझाने की मांग करते हैं। सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि यह संवैधानिक संकट है, लेकिन ऐसा कभी नहीं होना चाहिए कि सरकार और लोग इसकी सजा भुगते। इससे पहले चारों सीएम केजरीवाल से मिलने राजभवन भी गए लेकिन मुलाकात नहीं हो पाई।बड़ीखबर: केजरीवाल के समर्थन में उतरे चार CM, ममता बोलीं- PM से करेंगे बात...

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि वो यहां दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को समर्थन देने आए हैं। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल को चाहिए कि वे दिल्ली सरकार को काम करने दें। नायडू ने कहा कि उपराज्यपाल ने केजरीवाल से मिलने नहीं दिया। चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हम उपराज्यपाल और केंद्र सरकार से गुहार करते हैं कि इस मसले पर बात करें।

केरल के सीएम पिनराई विजयन ने कहा कि केंद्र संघीय ढांचे को तोड़ रहा है, जो कि देश के लिए खतरे की बात है। उन्होंने कहा कि हम सब अरविंद केजरीवाल के साथ हैं और लोकतंत्र में आस्था रखने वाले सभी लोगों को भी उनका साथ देना चाहिेए।

‘यह संवैधानिक संकट, पीएम से करेंगे बात’
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि यह संवैधानिक संकट है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिससे वजह से सरकार और लोगों को तकलीफ सहनी पड़े। ममता ने कहा कि दिल्ली में 2 करोड़ लोग हैं और पिछले चार महीनों से काम ठप पड़ा है। इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण कुछ नहीं हो सकता। सीएम बनर्जी ने कहा कि उपराज्यपाल को नियुक्त किया गया है, अगर वो ही समय नहीं देंगे और बात नहीं करेंगे तो कौन करेगा?

सीएम ममता बनर्जी ने कहा- ‘मैंने सीएम अरविंद केजरीवाल से मिलने की इच्छा जताई थी, लेकिन मुझे कहा गया कि मुलाकात नहीं हो पाएगी। इसके बाद हम चारों ने उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखी लेकिन फिर हमें बताया गया कि उपराज्यपाल तो वहां (राजभवन) में हैं ही नहीं। हमने काफी देर इंतजार किया लेकिन हमें अनुमति नहीं दी गई।’

ममता बनर्जी ने कहा कि वे अब पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे और उन्हें इसमें हस्तक्षेप कर सुलझाने की गुहार लगाएंगे। ममता ने कहा कि भारत में लोकतंत्र है और लोकतंत्र ऐसे ही काम करता है। कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने भी केजरीवाल का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग करते हैं कि वे इस मामले में हस्तक्षेप करें और इसे सुलझाने के लिए आवश्यक कदम उठाएं।

मिल नहीं पाए तो घर पहुंचे चारों सीएम
राजनिवास में धरना दे रहे सीएम अरविंद केजरीवाल से जब चारों मुख्यमंत्री नहीं मिल पाए तो उनके आवास पर पहुंचे। यहां केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल और दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने चारों मुख्यमंत्रियों का स्वागत किया। सभी मुख्यमंत्रियों ने केजरीवाल की बेटी और बेटे से भी मुलाकात की। बता दें कि रविवार को नीति आयोग की बैठक होनी है। इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों को हिस्सा लेना है। इस बैठक से पूर्व चार मुख्यमंत्रियों ने एक साथ बैठक कर अरविंद केजरीवाल से मिलने की इच्छा जाहिर की ।

राज्यपाल को लिखा था पत्र
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने पत्र लिखकर राजनिवास कार्यालय में धरना दे रहे अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों से रात नौ बजे मिलने की अनुमति मांगी थी, लेकिन उपराज्यपाल कार्यालय ने उन्हें मिलने की अनुमति प्रदान नहीं की।

हार्दिक पटेल भी उतरे समर्थन में
मंत्रियों समेत धरना दे रहे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हार्दिक पटेल ने भी समर्थन किया है। पटेल ने ट्वीट किया, पार्टी मेरे लिए महत्व नहीं रखती लेकिन में अरविंद केजरीवाल जी की इस लड़ाई में साथ हूँ।लोकतंत्र को बचाने के लिए सब को एक होना होगा !!’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी