मुस्लिम देश में पहली बार कोई हिंदू महिला चुनाव लड़कर रचेगी इतिहास

पाकिस्तान में पहली बार एक हिंदू महिला 25 जुलाई को होने वाले प्रांतीय असेंबली चुनाव में किस्मत आजमाएंगी। मुस्लिम बहुल पाकिस्तान में पहली बार अल्पसंख्यक समुदाय की कोई महिला चुनाव लड़कर इतिहास रचेगी।मुस्लिम देश में पहली बार कोई हिंदू महिला चुनाव लड़कर रचेगी इतिहास

31 वर्षीय सुनीता परमार ने थारपरकर जिले में सिंध असेंबली निर्वाचन क्षेत्र पीएस -56 के लिए निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन भरा है। पाकिस्तान में सबसे ज्यादा हिंदू इसी जिले में रहते हैं। परमार मेघवार समुदाय की हैं।

पाक की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आत्मविश्वास से भरी परमार का कहना है कि उन्होंने चुनाव लड़ने का फैसला इसलिए किया क्योंकि पूर्व की सरकारें उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से किए गए वायदों को पूरा करने और उनका जीवन स्तर सुधारने में असफल रहीं हैं।

परमार ने कहा, पिछली सरकारों ने इस इलाके के लिए कुछ भी नहीं किया। 21वीं शताब्दी में रहने के बावजूद महिलाओं के लिए मूल स्वास्थ्य सुविधाएं और शैक्षणिक संस्थान नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अमेरिका के मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी मैदान में

अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि