दिल्ली में पैदा हुई बाढ़ जैसी स्थिति, यमुना का जलस्तर आज तोड़ सकता है 5 सालों का रिकार्ड

हथिनी कुंड से लगातार छोड़े जा रहे पानी के कारण यमुना का खादर क्षेत्र जलमग्न हो चुका है। मंगलवार सुबह जलस्तर बढ़कर 206 मीटर पर पहुंच गया था जिसका लगातार बढ़ना जारी है। इस वक्त यमुना का जलस्तर 206.03 तक बढ़ गया है जो खतरे के निशान से काफी ऊपर है।
आज फिर हथनीकुंड से 24,992 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। बता दें कि 28 जुलाई तक यमुना में लगभग 5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। ईस्ट दिल्ली के डीएम के महेश ने बताया कि अगर बारिश नहीं हुई तो यमुना का जलस्तर नीचे गिर सकता है। यमुना खादर इलाके में रहने वाले करीब 10 हजार लोगों को अब राहत शिविरों में शिफ्ट कर दिया गया है।

हलांकि पानी छोड़ने का फ्लो पहले की तुलना में कम हुआ है। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को अभी भी राहत कैंपों में पहुंचाया जा रहा है। प्रशासन बढ़ते जल स्तर को लेकर मुस्तैदी बरत रहा है। इससे ज्यादा जल स्तर बढ़ता है तो सरकार सेना की मदद लेगी।

सोमवार को दिल्ली के राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत ने गीता कालोनी ठोकर 18 और 21 पर बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात का उचित सुविधाएं मुहैय्या करवाने के निर्देश दिए। उन्होनें बाढ़ पीड़ितों से कहा कि उन्हें कोई भी परेशानी को तो वे फोन से संपर्क किया जा सकता है।

इस बाबत उन्होंने लोगों को अपना मोबाइल नंबर भी बताया। उन्होंने कहा कि लोगों को हर संभव सहायता दी जाएगी। जल स्तर में सोमवार शाम 6 बजे तक 0.25 मीटर की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी।

लोहे के पुल से ट्रेनों का आवागमन बहाल

पूर्वी जिला प्रशासन के मुताबिक यमुना के सभी संभावित इलाकों में 37 बोटें और 250 बचाव कर्मी तैनात किए गए हैं। बोट के जरिये यमुना क्षेत्र में निगरानी रखी जा रही है। प्रशासन के मुताबिक मयूर विहार, प्रीत विहार और गांधी नगर जिलों के तहत आने वाले खादर क्षेत्र से तीन दिनों में 10 हजार लोगों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया गया है।

इन क्षेत्रों में डीएनडी फ्लाईओवर मयूर विहार एक्सटेंशन खेती क्षेत्र, नर्सरी पुश्ता मयूर विहार खादर क्षेत्र, अक्षरधाम मंदिर के पीछे का यमुना क्षेत्र, यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन का से जुड़ा खादर क्षेत्र, आईटीओ ब्रिज खादर क्षेत्र, हाथी ठोकर नंबर 10 और 11, ठोकर नंबर-12 शकरपुर, ठोकर 13, 14 और 15, गीता कालोनी ठोकर 16, 17, 18 और 21 शामिल हैं।

नर्सरी पुश्ता पर 50 परिवारों को नहीं मिले शिविर

मयूर विहार नोएडा लिंक रोड पर करीब 50 परिवरों को प्रशासन की ओर से कोई सुविधा नहीं मिल पाई है। ये लोग डीएनडी क्षेत्र में हैं। यहां पर रह रही रानी देवी ने बताया कि सभी लोग खुद की तिरपाल लगाकर रहने की व्यवस्था की है। उन्हें न तो खाना मिल रहा और अन्य सुविधाएं।

Loading...

Check Also

दिवाली के दो दिनों बाद भी नहीं सुधरे हालात, प्रदूषण का स्तर 'खतरनाक'

दिवाली के दो दिनों बाद भी नहीं सुधरे हालात, प्रदूषण का स्तर ‘खतरनाक’

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली तक़रीबन पिछले एक हफ्ते से भी अधिक समय से गंभीर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com