फीफा विश्व कप: क्रोएशिया ने रचा इतिहास, ‘थ्री लायंस’ को रौंदकर पहुंचा फाइनल में…

- in खेल, वायरल

क्रोएशिया ने फीफा विश्व कप 2018 के दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में एक बार की विश्व चैंपियन इंग्लैंड को हराकर पहली बार विश्व कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की की है। बुधवार को लुजिन्हकी स्टेडियम में खेले गए इस रोमांचक मुकाबले में क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 से मात दी। इस हार के साथ ही इंग्लैंड के विश्व कप के फाइनल में पहुंचने का 52 वर्षों का सपना टूट गया। अब 15 जुलाई को होने वाले फाइनल में क्रोएशिया का मुकाबला फ्रांस से होगा।

इस मुकाबले का पहला हाफ इंग्लैंड के नाम रहा। पहले हाफ के पांचवें मिनट में ही ट्रिपियर ने शानदार गोल दागकर इंग्लैंड को 1-0 की बढ़त दिलाई। दरअसल, लुका मोड्रिक ने ट्रिपियर को गिराया, जिसकी वजह से इंग्लैंड को फ्री किक मिली। मिडफील्डर ट्रिपियर ने बेहतरीन किक जमाकर गेंद को सीधे जाली में भेद दी। इसके साथ ही ट्रिपियर का ये गोल पिछले 12 सालों में किसी इंग्लिश खिलाड़ी का फीफा विश्व कप में फ्री-किक पर पहला गोल साबित हुआ। इससे पहले आखिरी बार ये कमाल 2006 फीफा विश्व कप में इक्वाडोर के खिलाफ इंग्लैंड के पूर्व कप्तान डेविड बेकहम ने किया था।

वहीं, दूसरे हाफ में क्रोएशिया ने अपने खेल में थोड़ी आक्रामकता दिखाई। दूसरे हाफ के 68वें मिनट में इवान पेरिसिच ने शानदार गोलकर क्रोएशियाई टीम के स्कोर को 1-1 की बराबरी पर ला दी। इसके साथ ही दूसरे हाफ का खेल 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ लेकिन नतीजा के लिए यह मुकाबला एक्सट्रा टाइम में चला गया। बता दें कि इस विश्व कप यह तीसरा ऐसा मुकाबला था जो एक्सट्रा टाइम में गया।

एक्सट्रा टाइम के पहले हाफ में दोनों टीमों की तरफ से कोई गोल नहीं हो पाया और स्कोर फिर से 1-1 की बराबरी पर रहा। मगर एक्सट्रा टाइम के दूसरे हाफ में क्रोएशिया के स्टार खिलाड़ी मारियो मैंडजुकिच (109वें मिनट) ने शानदार गोल दागकर क्रोएशिया को 2-1 से बढ़त दिलाई। इसके बाद क्रोएशियाई टीम ने अपना डिफेंस मजबूत रखा और बाकी बचे समय को वैसे ही पास कराया और यह मुकाबला 2-1 से अपने नाम करते हुए फीफा विश्व कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की की।

बता दें कि एक बार की विश्व चैंपियन इंग्लैंड 1966 में वेस्ट जर्मनी को 4-2 को हराकर खिताबी जीत हासिल की थी। वहीं, क्रोएशिया ने साल 1998 में सेमीफाइनल तक पहुंची थी लेकिन एक बार की विश्व विजेता फ्रांस के हाथों उसे 1-2 की शिकस्त का सामना करना पड़ा था। वहीं, इंग्लैंड की टीम इससे पहले आखिरी बार 1990 में फीफा विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंची थी लेकिन वहां जर्मनी की टीम के खिलाफ उसे करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

लाइव कमेंट्री का रोमांच

क्रोएशिया ने एक बार की विश्व चैंपियन इंग्लैंड को 2-1 से हराकर पहली बार विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई।

स्कोरः क्रोएशिया 2ः इंग्लैंड 1

फुलटाइम

120 मिनटः एकस्ट्रा टाइम के दूसरे हाफ का खेल खत्म। 4 मिनट का इंजुरी टाइम जोड़ा गया है।

115 मिनटः एक्सट्रा टाइम के दूसरे हाफ का खेल खत्म होने में 5 मिनट का समय बचा है। देखना है कि इंग्लैंड क्रोएशिया के गोल की बराबरी कर पाती है या नहीं।

109 मिनटः गोल!!! एक्सट्रा टाइम के 19वें मिनट में मैंडजुकिच ने शानदार गोल दागकर क्रोएशिया को 2-1 से बढ़त दिलाई।स्कोरः इंग्लैंड 1ः क्रोएशिया 1

-एक्सट्रा टाइम के पहले हाफ का खेल खत्म

105 मिनटः क्रोएशिया के मौका था। मंडजुकिक ने एक्सट्रा टाइम के आखिरी क्षणों में शानदार डिफेंस लगाकर गेंद को गोलपोस्ट में भेदने की कोशिश की लेकिन इंग्लैंड के गोलकीपर पिकफोर्ड ने शानदार बचाव किया।

105 मिनटः एक्सट्रा टाइम के पहले हाफ का खेल खत्म। 2 मिनट का समय और जोड़ा गया है।

101 मिनटः एक्सट्रा टाइम में क्रोएशिया ने अपनी टीम में दूसरा बदलाव किया है। एंटे रेबिक की जगह आंद्रेज क्रामारिक को मैदान पर भेजा गया है।

97 मिनटः इंग्लैंड ने अपनी टीमों में बदलाव किया है। हेंडरसन की जगह एरिक डायर को मैदान पर भेजा गया है।

96 मिनटः फाउल कराने के लिए क्रोएशिया के खिलाड़ी रेबिक को येलो कार्ड मिला। इंग्लैंड को फ्रि किक मिली लेकिन उसका फायदा नहीं उठा पाए।

94 मिनटः क्रोएशिया ने अपने टीम में बदलाव किया है। इवान स्ट्रिनिक की जगब जोसिप पिवारिक को मैदान पर भेजा गया है।

एक्सट्रा टाइम में भी यदि इन दोनों टीमों का नतीजा नहीं निगलेगा तो यह मुकाबला पेनल्टी शूटआउट में जाएगा। यदि वाकई ऐसा होता है तो क्रोएशिया का यह लगातार तीसरा पेनल्टी शूटआउट होगा।

एक्सट्रा टाइम के पहले हाफ का खेल शुरू।

स्कोरः इंग्लैंड 1ः क्रोएशिया 1फुलटाइम

90 मिनटः दूसरे हाफ का खेल खत्म। 3 मिनट का इंजुरी टाइम जोड़ा गया है।

90 मिनटः इंग्लैंड को मिली फ्री किक लेकिन कोई सफलता नहीं।

81 मिनटः क्रोएशिया के पास गोल करने का एक और मौका था। पेरिसिक ने शानदार शॉट लगाया लेकिन इंग्लैंड को गोलकीपर पिकफोर्ड ने अच्छा बचाव किया।

74 मिनटः इस मुकाबले में इंग्लैंड ने अपनी टीम में पहला बदलाव किया है। स्ट्रिंलिंग को बुलाकर रेश्फोर्ड को मैदान पर भेजा गया है।

70 मिनटः दूसरे हाफ का खेल खत्म होने में केवल 20 मिनट का समया बचा है। बढ़त बनाने के लिए दोनों टीमों को एक गोल की तलाश है नहीं तो यह मुकाबला एक्सट्रा टाइम या पेनल्टी शूटआउट में जाएगा।

स्कोरः इंग्लैंड 1ः क्रोएशिया 1

68 मिनटः गोल!!! क्रोएशिया की तरफ से पेरिसिच ने शानदार गोल कर स्कोर को किया 1-1 से बराबर।58 मिनटः क्रोएशिया को कॉर्नर मिला लेकिन कोई सफलता नहीं।

56 मिनटः इंग्लैंड के पास गोल करने का शानदार मौका था। कप्तान हेरी केन ने डाइविंग हेडर लगाया लेकिन नाकाम रहे।

54 मिनटः क्रोएशिया के बाद इंग्लैंड के खिलाड़ी वॉकनर को भी जबर्दस्ती गेंद उठाने और रेफरी से बहस करने के लिए येलो कार्ड दिखाया गया।

48 मिनटः इस मुकाबले का पहला येलो कार्ड क्रोएशिया के खिलाड़ी रेबिक को मिला। रेबिक ने  वॉकनर को फाउल कराने की कोशिश की, जिस कारण उन्हें येलो कार्ड दिया गया।

दूसरे हाफ का खेल शुरू।

हाफ टाइम

स्कोर- इंग्लैंड 1ः क्रोएशिया 045 मिनटः पहले हाफ का खेल खत्म। 1 मिनट का समय और जोड़ा गया है।

44 मिनटः क्रोएशिया ने मौके भुनाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे।

40 मिनटः पहले हाफ का खेल खत्म होने में मात्र 5 मिनट का खेल बचा है। इंग्लैंड 1-0 की बढ़त पर है। अब यह देखना होगा कि क्या क्रोएशिया पहले ही हाफ में इंग्लैंड को गोल की बराबरी कर पाती है या नहीं।

30 मिनटः एक बार फिर इंग्लैंड के पास गोल करने का शानदार मौका था। लिंगार्ड ने गेंद को हेरी केन के पास किया लेकिन इंग्लैंड के कप्तान ने यह मौका गंवाया।

24 मिनट: इंग्लैंड के रहीम स्टर्लिंग भी आज अपनी उपयोगिता साबित करने के लिए जोर लगा रहे हैं। उन्होंने क्रोएशियाई डिफेंस को छकाकर गेंद हवा में मार दी जो दूर चली गई। इंग्लैंड का मैच पर पूरी तरह दबदबा।

22 मिनट: हैरी केन की गलती से इंग्लैंड अपनी बढ़त दोगुनी करने में नाकाम हुआ। क्रोएशियाई गोलकीपर ने अपने डिफेंडर को गेंद पास दी। इस पर क्रोएशियाई डिफेंडर से गलती हुई और वह गेंद इंग्लैंड के स्ट्राइकर को पास कर बैठे। हालांकि, इस समय हैरी केन ऑफसाइड पर खड़े थे। उन्हें गेंद मिली, जिस पर उन्होंने गोल किया। मगर रेफरी ने इसे गोल करार नहीं दिया।

19 मिनट: क्रोएशिया ने पहली बार आक्रमण करने का जज्बा दिखाया। इवान पेरिसिच का शॉट काइल वॉल्कर को डिफ्लेक्ट करके गोलपोस्ट से दूर चला गया। रेफरी इस डिफ्लेक्शन को देख नहीं सके और गोल किक का फैसला सुनाया।

15 मिनट: इंग्लैंड की धमाकेदार शुरुआत। पिछले 10 मिनटों में उसने गेंद पर अधिकांश कब्जा बनाए रखा है। हालांकि, इस दौरान उसने गोल करने का कोई मौका नहीं बनाया।

मजेदार फैक्ट: इंग्लैंड ने 2018 विश्व कप में 9 गोल सेट पीस से दागे। 1966 के बाद से विश्व कप के किसी एक संस्करण में सेट पीस के माध्यम से सर्वाधिक गोल करने का यह भी रिकॉर्ड है।

5 मिनट: गोल!!! लुका मोड्रिक ने ट्रिपियर को गिराया, जिसकी वजह से इंग्लैंड को फ्री किक मिली। ट्रिपियर ने बेहतरीन किक जमाई और क्रोएशियाई गोलकीपर सुबासिच के बाएं ओर के कॉर्नर में गेंद जाली में भेद दी।

दोनों ही टीमों के नेशनल एंथम पूरे हो चुके है। इंग्लैंड की टीम सफेद जर्सी में खेल रही है जबकि क्रोएशिया की टीम काली जर्सी में खेल रही है।

टीमें इस प्रकार हैंः

क्रोएशिया: सुबासिक, वर्सलजको, स्ट्रिनिक, विदा, पेरिसिक, लोरेन, राकिटिच, मॉड्रिच, ब्रोजोविच, मैंडजुकिच, रेबिच।

इंग्लैंड: पिकफोर्ड, वाकर, स्टोन्स, मगुइर, लिंगार्ड, हेंडरसन, स्टर्लिंग, ट्रिपपीयर, यंग, ऐली, केन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने हार के बाद खिलाड़ियों के साथ किया कुछ ऐसा की, जीता लिया पूरे दुनिया का दिल..

फीफा वर्ल्ड कप 2018 में कल खेले गए