मुरादाबाद में पासपोर्ट सत्यापन के लिए महिला सिपाही ने मांगे एक हजार, हुई निलंबित

पासपोर्ट का वेरीफिकेशन करने के महिला कांस्टेबल ने एक हजार रुपये मांगे थे। रकम नहीं देने पर रिपोर्ट गलत लगा दी गई। पीड़ित की शिकायत पर मामले की जांच एसपी देहात से कराई गई। जांच में आरोप पुष्ट होने के बाद देर रात महिला कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया।मुरादाबाद में पासपोर्ट सत्यापन के लिए महिला सिपाही ने मांगे एक हजार, हुई निलंबित

घटना भोजपुर थाने की है। कस्बे के मोहल्ला फतेहपुरी निवासी मोहम्मद फहीमुददीन पुत्र अब्दुल हकीम अजीजी ने 27 अप्रैल को पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था। पासपोर्ट कार्यालय में सभी आइडी का वेरीफिकेशन होने के बाद पुलिस से जांच रिपोर्ट मांगी गई थी। फहीमुद्दीन के पासपोर्ट की जांच पासपोर्ट सैल से भोजपुर थाने को भेजी गई।

यहां पर पासपोर्ट का काम महिला कांस्टेबल प्रभा आर्य देख रही थी। कागजात थाने में पहुंचने के बाद प्रभा ने फहीमुद्दीन को कॉल कर थाने में बुलाया। फहीमुद्दीन पिछले थाने के पास ही मोहल्ले फतेहपुरी में रहता है। फहीमुद्दीन ने कांस्टेबल प्रभा को अपने निवास प्रमाण पत्र मुहैया करा दिए। उसके बावजूद भी प्रभा ने वेरीफिकेशन कर रिपोर्ट लगाने के लिए एक हजार रुपये की मांग की।

फहीमुद्दीन ने रकम कम करने को कहा। उसके बावजूद भी प्रभा नहीं मानी। तब जाकर फहीमुद्दीन ने रकम देने से इन्कार कर दिया। उसके बाद प्रभा ने पासपोर्ट की जांच में फहीमुद्दीन के निवास को स्थाई पता होने से इन्कार कर दिया। पुलिस की जांच रिपोर्ट पासपोर्ट कार्यालय पहुंची तो उसका आवेदन निरस्त हो गया। पासपोर्ट नहीं बनने से परेशान फहीमुद्दीन ने मामले की शिकायत एसएसपी से की, जिस पर मामले की जांच कर कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्वच्छ्ता अभियान में जूट के बैग बांट रहे डॉ.भरतराज सिंह

एसएमएस, लखनऊ के वैज्ञानिक की सराहनीय पहल लखनऊ