आखिरकार परमाणु धमकियों के बीच किम जोंग उन से मिलने को तैयार ट्रंप, मई में करेंगे मुलाकात

आखिरकार लंबी खींचतान के बाद अब उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच बातचीत के आसार नजर आ रहे हैं। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बातचीत का आमंत्रण दिया है, जिसे ट्रंप ने स्वीकार कर लिया है। कहा जा रहा है कि मई तक दोनों के बीच मुलाकात संभव है। इसकी जानकारी दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति को निमंत्रण देने के बाद दी है।

आखिरकार परमाणु धमकियों के बीच किम जोंग उन से मिलने को तैयार ट्रंप, मई में करेंगे मुलाकात

नरम पड़े उ.कोरिया के तेवर!

जिस तरह उत्तर कोरिया ने अमेरिका के साथ चल रही जुबानी जंग पर विराम लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति को मिलने का आमंत्रण दिया है। उससे यहीं लग रहा है कि अमेरिका समेत कई देशों की टेंशन बढ़ाने वाले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के तेवर अब नरम पड़ रहे हैं। उत्तर कोरिया अमेरिका से बात करने के लिए तैयार हो गया है, जिस आमंत्रण को ट्रंप ने स्वीकार भी कर लिया है। दोनों पड़ोसी देशों की बातचीत के बाद दक्षिण कोरिया ने यह जानकारी दी है। उसके मुताबिक, उ.कोरिया ने कहा है कि अगर उसे सुरक्षा की गारंटी दी जाए तो वह अपने परमाणु हथियार भी छोड़ देगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने उ.कोरिया की इस पहल का स्वागत किया है। उन्होंने उम्मीद जताई है परमाणु अप्रसार की दिशा में इससे मदद मिल सकती है।

राजधानी प्योंगयांग में उ. कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से द. कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार चुंग यी योंग ने बात की। 2011 में सत्ता में आने के बाद से किम जोंग उन के वरिष्ठ अधिकारियों से दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल की यह पहली मुलाकात थी। योंग ने मंगलवार को बताया कि उ.कोरिया अब अमेरिका से संबंध सुधारने के लिए ट्रंप प्रशासन से बातचीत करना चाहता है। इतना ही नहीं, वह दक्षिण कोरिया के खिलाफ किसी पारंपरिक या परमाणु हथियार का प्रयोग नहीं करने का वादा करने को भी राजी है।

अभी-अभी: भारत को लेकर चीन बोला- हाथी और ड्रैगन लड़ाई छोड़ साथ-साथ नृत्य करें

 

बता दें कि उत्तर कोरिया और अमेरिका एक-दूसरे को युद्ध की धमकी भी दे चुके हैं। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के आक्रामक परमाणु कार्यक्रम से न सिर्फ दक्षिण कोरिया बल्कि अमेरिका समेत विश्व के कई देशों में तनाव का माहौल रहता है। इसको लेकर बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग के बीच जमकर तीखी जुबानी जंग हो चुकी है। दोनों देशों के बीच माहौल इस कदर गर्म हो गया था कि दोनों नेता एक-दूसरे को परमाणु हमले तक की धमकी दे चुके हैं। इस बीच विंटर ओलंपिक के चलते दोनों कोरियाइ देशों के बीच का तनाव थोड़ा कम होता दिखा है। जिसमें उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया अपनी टीम भेजी थी और दोनों कोरिया की संयुक्त टीम ने खेल में हिस्सा लिया था। उसके बाद दोनों देशों के बीच उच्च स्तर की कई राउंड बातचीत भी हो चुकी है।

अब तक क्या-क्या कर चुका है उत्तर कोरिया?

 

– नॉर्थ कोरिया हाइड्रोजन बम समेत 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है।

– इस साल अप्रैल में किम जोंग ने समुद्र में लाइव फायरिंग कराई थी। इसे उत्तर कोरिया का अब तक की सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास कहा गया था।

– दो साल में नॉर्थ कोरिया ने 21 बार मिसाइल टेस्ट किया है, इसमें चार नाकाम रहे।

– छह साल में किम जोंग ने 43 शॉर्ट रेंज, 13 मीडियम, 10 क्रूज, 6 इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल और 4 एटमी टेस्ट किए।

– उत्तर कोरिया ने बीते 33 साल में 150 मिसाइल और न्यूक्लियर टेस्ट किए हैं।

– इस साल नॉर्थ कोरिया इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) ह्वासॉन्ग-15 के 2 टेस्ट कर चुका है।

– इस मिसाइल की रेंज 13 हजार किमी है। इसकी जद में अमेरिका भी है।

You may also like

सुप्रीम कोर्ट के आज के इन 3 बड़े फैसले से जीवन में पड़ने वाले है ये असर

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक के बाद