सुप्रीम कोर्ट: क्या सिख धर्म में पगड़ी पहनना अनिवार्य है?

- in Mainslide, राष्ट्रीय

क्या सिख धर्म में पगड़ी पहनना अनिवार्य है? ये सवाल सुप्रीम कोर्ट ने एक सिख साइकलिस्ट जगदीप सिंह से पूछा. दिल्ली के जगदीप दरअसल एक स्थानीय साइकिल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले थे लेकिन उन्होंने हेलमेट पहनने से मना कर दिया था. जिसके बाद आयोजकों ने उन्हें प्रतियोगिता में भाग नहीं लेने दिया.

जगदीप ने एक याचिका दायर कर दी. याचिका में जगदीप ने दलील दी कि वे हेलमेट इसलिए नहीं पहन सकते क्योंकि सिख धर्म में पगड़ी पहनना अनिवार्य है.

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एस ए बोडबी और एल एन राव की एक बेंच मामले की सुनवाई कर रही थी. जजों ने कहा कि सिर ढकना अनिवार्य है ना कि पगड़ी पहनना. इसके लिए उन्होंने मिल्खा सिंह, बिशन सिंह बेदी जैसे खिलाड़ियों का उदाहरण दिया.

बरी होने के बाद घर पहुंचकर घंटो रोई माया कोडनानी

हिंदुस्तान टाइम्स की एक खबर के मुताबिक जजों ने जगदीप से पूछा कि क्या उनके पास कोई सबूत है जिससे यह साबित हो सके कि सिख धर्म में पगड़ी पहनना अनिवार्य है. ‘खेल प्रतियोगिताओं में चोट लगने का खतरा रहता है. अगर आपको चोट लग जाती तो आयोजकों पर सारा दोष मढ़ा जाता.’

मामले की अगली सुनवाई 23 अप्रैल को होगी. कोर्ट पगड़ी मामले पर किसी ऐसे शख्स की सलाह भी लेगा जिसे सिख धर्म के नियमों की पूरी जानकारी हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इमरान खान का मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- ‘भारत के अहंकारी और नकारात्‍मक जवाब से निराश हूं’

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नरेंद्र