थमने का नाम नहीं ले रहा ‘लवयात्री’ विवाद, हिन्दुवादी संगठन ने नया नाम किया अस्वीकार्य

अहमदाबाद। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की आगामी फिल्म का नाम ‘लवरात्रि’ से बदलकर ‘लवयात्री’ किए जाने के एक दिन बाद, एक हिन्दू संगठन ने गुजरात उच्च न्यायालय से बुधवार को कहा कि उसे नया नाम स्वीकार्य नहीं है।

शहर के संगठन ‘सनातन फाउंडेशन’ ने एक जनहित याचिका दायर करके अनुरोध किया कि या तो इस फिल्म का शीर्षक और फिल्म की कुछ सामग्री बदली जाए या इसे ”हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने” के आधार पर प्रतिबंधित किया जाए।

संगठन ने अदालत से कहा कि फिल्म का नाम इसलिए स्वीकार्य नहीं है क्योंकि यह हिन्दुओं के त्योहार ‘नवरात्रि’ से मिलता जुलता है। जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान, प्रतिवादी निर्माता के वकील ने अदालत में कहा कि याचिका ‘समय पूर्व’ दायर की गई है क्योंकि फिल्म को अब तक सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र नहीं मिला है।

मुख्य न्यायाधीश आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति वी एम पंचोली की पीठ ने फिल्म के निर्माता के वकील को फिल्म की सामग्री के संबंध में निर्देश लेने का निर्देश दिया और पूछा कि सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र मिलने से पहले इसके प्रोमो जारी कैसे कर दिये गये।

बताते चलें कि बॉलीवुड के गॉडफादर कहे जाने वाले सलमान खान इस फिल्म से अपने जीजा आयुष शर्मा को फिल्म इंडस्ट्री में लॉन्च कर रहे हैं। फिल्म में उनके अपोजिट वरीना हुसैन हैं। बताते चलें कि फिल्म के नाम के परिवर्तन की जानकारी सलमान ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए दी थी।

फिल्म का एक पोस्टर साझा करते हुए उन्होंने लिखा था कि ‘ये कोई स्पैलिंग मिस्टेक नहीं हैं।’ फिल्म की रिलीज पर नजर डाले तो यह फिल्म 5 अक्टूूबर को बड़े पर्दे पर दस्तक देने जा रही हैं।   

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *