ये है यूपी का हाल पिछले 24 घंटे में अाठ महिलाओं की लुटी अाबरू, दो ने जान दी

लखनऊ । यूपी में महिलाओं की सुरक्षा खतरे में है। पिछले 24 घंटे के अंदर राजधानी लखनऊ से लेकर ईस्ट और वेस्ट तक बुंदेलखंड से लेकर मध्य यूपी हर कहीं महिलाओं के साथ जघन्य अपराध किये गयें है। इसमें अाधा दर्जन महिलाअों और युवतियों से दुष्कर्म, जबरन शादी करने, बंधक बनाने जैसे बहुत से एेसे मामले हैं जिनसे हमारा समाज शर्मसार हो रहा है। इन सब अपराधों में जितनी सरकार और शासन प्रसाशन की जिम्मेदारी है उतनी ही समाज की भी जिम्मेदारी बनती है कि वह एेसे मामलों पर रोक लगाये।

ये है यूपी का हाल पिछले 24 घंटे में अाठ महिलाओं की लुटी अाबरू, दो ने जान दीमुंबई की युवती को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म
लखनऊ : मुंबई की एक युवती को गोमतीनगर के नेहरू इन्क्लेव स्थित एक फ्लैट में बुलाकर सप्ताहभर बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। युवती को नौकरी के नाम पर युवक ने बुलाया था। युवती ने मंगलवार रात किसी तरह आरोपितों के चंगुल से भागकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने चारों ओर से फ्लैट घेरा, तब तक मुख्य आरोपित भाग चुका था, उसकी एक महिला साथी फ्लैट में थी, जिसने पुलिस को देखकर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। पुलिस देर रात दरवाजा खुलवाने का प्रयास कर रही थी।
सीओ गोमतीनगर दीपक सिंह के मुताबिक पीडि़ता का मेडिकल कराया जा रहा है। मुंबई के औरंगाबाद निवासी युवती के मुताबिक राजकोट गुजरात निवासी एक दोस्त के जरिये वह गोमतीनगर के नेहरू इन्क्लेव निवासी राहुल के संपर्क में आई। युवती की पहले राहुल से वाट्सएप पर चैटिंग हुई। इसके बाद युवती ने राहुल से नौकरी लगवाने की बात कही। राहुल ने युवती को नौकरी दिलाने का वादा किया। सप्ताहभर पहले फ्लाइट का टिकट वाट्सएप करके उसे लखनऊ आने का न्योता दिया। युवती नौकरी के झांसे में आकर लखनऊ पहुंची। राहुल ने उसे एयरपोर्ट से अपनी कार से रिसीव किया और सीधे गोमतीनगर के नेहरू इन्क्लेव स्थित फ्लैट ले गया। यहां उसे बंधक बना लिया। इसके बाद अपने पांच से छह साथियों से प्रतिदिन दुष्कर्म कराता रहा। विरोध पर युवती को मारते पीटते थे, खाने के लिए भी कुछ नहीं देते थे। मंगलवार रात दस बजे राहुल एक महिला मित्र के साथ फ्लैट में था, तभी पीडि़ता उन्हें चकमा देकर भाग निकली। नेहरू इन्क्लेव में ही पीडि़ता को भागते वक्त एक न्यायिक अधिकारी मिले। उनके माध्यम से पीडि़त युवती ने पुलिस को सूचना दी। इसी बीच होमगार्ड इंस्पेक्टर बीके सिंह भी मौके पर पहुंच गए और पीडि़ता को शॉल दिया और उसकी मदद की।

हमीरपुर : जबरन शादी रचाने के लिए एक दबंग युवक तमंचा लेकर युवती के घर जा घुसा। उसकी धमकी से घबराई युवती ने जहरीला पदार्थ खाकर जान देने का प्रयास किया। युवती की मां ने एसपी दिनेश कुमार से शिकायत करते हुए आरोपित पर कार्रवाई की मांग की है। मंगलवार देर रात एसपी ने लापरवाही बरतने पर इंस्पेक्टर मधुसूदन दीक्षित व एसआइ प्रभुराज ङ्क्षसह को निलंबित कर दिया।
ललपुरा थानाक्षेत्र के कुम्हूपुर निवासी विपिन प्रजापति सोमवार को एक घर में घुस गया और तमंचा लगा युवती से जबरन शादी का दबाव बनाने लगा। इससे घबराई युवती ने घर में जहरीला पदार्थ खा लिया। उसे आनन फानन जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूचना पाकर पहुंची पुलिस विपिन को तमंचे के साथ पकड़कर थाने ले आई। पीडि़ता की मां ने एसपी से शिकायत करते हुए बताया कि आरोपित अपराधी किस्म का है, उनके परिवार को जान का खतरा है। देर रात करीब 10 बजे एसपी ने अस्पताल पहुंच पीडि़त व उसके परिवारीजन से हकीकत जानी। इसके बाद पुलिस की लापरवाही सामने आने पर इंस्पेक्टर मधुसूदन दीक्षित व एसआइ प्रभुराज ङ्क्षसह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। वहीं महिला एसओ को छात्रा की सुरक्षा के लिए तैनात कर दिया गया है।

मुरादाबाद : पुलिस सिस्टम से हारी दुष्कर्म पीडि़ता ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। दिल दहला देने वाली घटना के चंद घंटों बाद ही पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया, जबकि 18 दिनों से पीडि़ता कभी थाने तो कभी पंचायत में इंसाफ के लिए गिड़गिड़ा रही थी।
पुलिसिया कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करने वाली घटना भोजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की है। यहां की रहने वाली युवती और ठाकुरद्वारा में रहने वाली बुआ के बेटे आरिफ के बीच प्रेम संबंध हो गए। दोनों शादी करने ही वाले थे, तभी आरिफ युवती से मिलने उसके गांव आ गया। उसने पड़ोस के घर में युवती को बुला लिया, जहां दोनों को परिवार के लोगों ने आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया। परिवार के लोग दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी कर रहे थे, तभी आरिफ का परिवार निकाह करने के लिए तैयार हो गया। सभी निकाह की तैयारी में लग गए थे। अचानक आरिफ ने निकाह से इन्कार कर दिया। पीडि़ता ने नौ मार्च को थाने में आरिफ के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया। 18 दिनों तक पुलिस आरिफ का गिरफ्तार नहीं कर सकी थी, बल्कि समझौते के लिए पंचायतों का दौर चल रहा था। इंसाफ नहीं मिलने से क्षुब्ध युवती ने मंगलवार सुबह घर से काशीपुर रेलमार्ग पर पैसेंजर ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। एसएसपी जे. रविन्दर गौड ने बताया कि आरोपी आरिफ को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस कार्रवाई में हुई देरी की जांच होगी।

शामली : क्षेत्र के दो अलग-अलग गांवों में दो किशोरी के साथ दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया। कांधला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी पीडि़ता के पिता ने बताया कि उसकी 14 वर्षीय पुत्री मंगलवार को पशुओं के लिए चारा लेने गई थी। इसी बीच गांव के ही पांच युवकों ने उसे दबोच लिया और दुष्कर्म किया। किशोरी के घर नहीं आने पर परिजनों ने तलाश की तो वह गन्ने के खेत में बेहोशी की हालत में मिली। राजकीय अस्पताल में होश में आने पर उसने घटना की जानकारी दी। पिता ने दो नामजद व तीन अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है। थाना प्रभारी ओपी चौधरी का कहना है कि जांच की जा रही है।
दूसरी वारदात कैराना क्षेत्र के एक गांव की है। खादर क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी ने कैराना कोतवाली में तहरीर में कहा कि दो दिन पूर्व घर के सभी सदस्य किसी कार्य से बाहर गए थे। इसी दौरान पड़ोसी महिला ने उसे बहाने से घर बुलाया। पहले से मौजूद दो युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। परिजनों के आने पर किशोरी ने घटना बताई। परिजनों ने कोतवाली में पहुंचकर घटना की जानकारी दी। कोतवाली प्रभारी भगवत ङ्क्षसह का कहना है कि जांच की जा रही है।

फर्रुखाबाद : किसी बात पर नाराज होकर चार दिन पहले घर से भागकर पटना रेलवे स्टेशन पहुंची बनारस की युवती यहां रोशनाबाद गांव में मिली। पटना में दो युवतियां और एक युवक दोस्ती गांठ उसे नशीला पदार्थ खिलाकर यहां लाए थे और एक मकान में बंधक बना दिव्यांग से जबरन शादी करा रहे थे। उनके चंगुल से छूटने के बाद मंगलवार सुबह बदहवासी की हालत में घूम रही युवती से ग्रामीणों ने पूछताछ की और पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने उसे बनारस रवाना कर दिया।
थाने में युवती ने बताया कि वह बनारस के आदमपुर थाना क्षेत्र के मोहल्ला रानी कोटी की रहने वाली है। रविवार से उसे रोशनाबाद गांव में एक कमरे में रखा गया था। जबरन उसकी शादी दिव्यांग युवक से कराई जा रही थी। सोमवार रात वह किसी तरह घर से निकल भाग आई। प्रभारी निरीक्षक रङ्क्षवद्र नाथ यादव ने बताया कि युवती के बताए गए पते पर वार्ता करने के बाद महिला पुलिस के साथ उसको घर भिजवाया गया है। वह गांव का नाम व लड़कों के बारे में अधिक जानकारी नहीं दे पाई।

किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, 50 हजार में बेच दिया
इटावा : शादी समारोह में पूड़ी बनाने के बहाने 17 वर्षीय किशोरी को ग्राम पिलखना से 10 दिन पूर्व ले जाकर हलवाई ने दुष्कर्म किया फिर 50 हजार रुपये में बेच दिया। खरीदार पिता-पुत्र उसे बंधक बनाकर आठ दिन तक दुष्कर्म करते रहे। दुष्कर्मियों के चंगुल से छूटकर भागी किशोरी ने परिवारीजन के साथ थाने जाकर व्यथा बताई। दो थानाक्षेत्रों में कहानी को उलझाकर पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया बल्कि सीओ ने तो घटना को ही संदिग्ध बता दिया।

किशोरी ने पुलिस को दिए प्रार्थनापत्र में बताया कि वह मांगलिक कार्यक्रमों में पूड़ी बेलने का काम करती है। 16 मार्च शुक्रवार दोपहर 12 बजे ग्राम खितौरा निवासी एक हलवाई उसके पास आया और बोला कि भरथना में एक शादी समारोह में पूड़ी बेलने चलना है। इस पर वह हलवाई के साथ चली गई। हलवाई उसको पहले ग्राम पढिय़ापुर में अपने साथी के घर ले गया। वहां से दोनों लोग उसे पढिय़ापुर नहर ले गए और डरा-धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद हलवाई और उसके सहयोगी ने फोन करके पास के ही गांव कंडा निवासी पिता-पुत्र को मौके पर बुलाकर 50 हजार रुपये में उसका सौदा कर लिया। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि दोनों पिता-पुत्र उसे डरा धमका कर अपने घर लाए और एक कमरे में उसे बंधक बना लिया। आठ दिन तक उसके साथ दुष्कर्म करते रहे। 25 मार्च की रात आरोपी कमरे के दरवाजे की कुंडी बंद करना भूल गए और इसी का लाभ उठाकर वह रात दो बजे कंबल ओढ़कर मौके से भाग निकली।
दुष्कर्म की घटना बकेवर और भरथना दो थानों के बीच उलझी होने के कारण किसी भी थाने में मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। क्षेत्राधिकारी भरथना विकास जायसवाल ने घटना को संदिग्ध बताकर कहा कि किशोरी से दुष्कर्म की पुष्टि हुई तो आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया जाएगा।

आबरू की कीमत पंचायत ने लगाई तीन लाख रुपये

मुरादाबाद : शादी का झांसा देकर यौन शोषण किया, जिससे युवती गर्भवती हो गई। शादी का दबाव बनाने पर युवक मुकर गया। बिरादरी की पंचायत ने युवती को तीन लाख रुपये देने का फरमान सुनाया है। गांव निवासी सलीम ने एक वर्ष पहले पड़ोसी गांव सलेमसराय में ट्रैक्टर-ट्राली से मिट्टी का भराव किया था। इस दौरान युवती से संबंध हो गए। आरोप है कि शादी करने का झांसा देकर दुराचार भी किया जिससे युवती गर्भवती हो गई। इस पर युवती ने प्रेमी से शादी करने को कहा जिस पर युवक ने इन्कार कर दिया। युवती ने आपबीती परिजनों को बताई। परिजन बेटी को लेकर आरोपित के घर पहुंच गए लेकिन, युवक के परिवार ने धक्के देकर बाहर निकाल दिया। इसके बाद मामला बिरादरी की पंचायत में गया। पंचों के सामने आरोपित ने शादी करने से इन्कार कर दिया। पंचों ने युवक को तीन लाख रुपये अर्थदंड देने का आदेश दिया है। एसओ शरद मलिक ने बताया कि थाने में कोई तहरीर नहीं आई है। तहरीर आने पर मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा। उन्हें मौखिक सूचना जरूर मिली है।

You may also like

बिहार बोर्ड के फर्जी अंकपत्र बनाने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़

एसटीएफ ने बिहार संस्कृत बोर्ड और वेस्ट बंगाल