लंबी उम्र के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते. कुछ लोग स्वस्थ रहने के लिए जिम में पसीना बहाते हैं ताकी ज्यादा जी सकें. अगर आप भी लंबी आयु चाहते हैं तो अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित कर दीजिए. खाने में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है. यह बात हाल ही में हुए एक शोध में सामने आई है. शोध में पाया गया है कि कार्बोहाइड्रेट में 40 फीसदी से कम या 70 फीसदी से ज्यादा ऊर्जा के सेवन से मौत का खतरा बढ़ जाता है.

वहीं कार्बोहाइड्रेट के रूप में 50-55 फीसदी ऊर्जा ग्रहण करने वालों को मौत का खतरा कम रहता है. शोध के सह-लेखक और बोस्टन स्थित हार्वर्ड टी. एच. चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रोफेसर वाल्टर विलेट ने कहा, “इन नतीजों में एक साथ कई पहलू हैं, जो विवादास्पद रहे हैं. बहुत ज्यादा और बहुत कम कार्बोहाइड्रेट नुकसानदेह साबित हो सकता है, लेकिन सबसे गौर करने वाली बात है वह वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का प्रकार है.”

लांसेट पब्लिक हेल्थ जर्नल में प्रकाशित इस रिसर्च के तहत 45 से 64 साल की आयु वर्ग के 15,428 वयस्कों को शामिल किया गया. प्रतिभागियों में पुरुष 600-420 किलो कैलोरी ऊर्जा रोज ग्रहण करते थे, जबकि महिलाएं 500-3600 किलो कैलोरी.

ऐसे पैर वाली लड़कियों से शादी हो के बाद पति हो जाते है बहुत ही धनवान, देती है पति का हमेशा साथ

शोधकर्ताओं के आकलन के अनुसार, सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की आयु आवश्यकता से कम कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में चार साल अधिक पाई गई, जबकि अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में एक साल अधिक थी.