तो इस वजह से बदली खेल पुरस्कार दिए जाने की तारीख

- in खेल

नई दिल्ली.  एशियाई खेलों की वजह से राष्ट्रीय खेल पुरस्कार अब 29 अगस्त की जगह 25 सितंबर को दिये जायेंगे. ऐसे में खेल मंत्रालय एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के नाम पर भी अब गौर कर सकता है . हर साल राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 29 अगस्त को महान हाकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर राष्ट्रपति भवन में दिये जाते हैं. इस बार पुरस्कार समारोह 25 सितंबर को होगा क्योंकि इंडोनेशिया में 18 अगस्त से दो सितंबर तक एशियाई खेल होने हैं.तो इस वजह से बदली खेल पुरस्कार दिए जाने की तारीख

खेल सचिव राहुल भटनागर ने कहा कि खिलाड़ियों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये खेल मंत्रालय ने तारीखों में बदलाव का प्रस्ताव रखा जिसे राष्ट्रपति भवन ने मंजूर कर लिया.  उन्होंने कहा ,‘‘ खेल मंत्रालय ने तारीख में बदलाव किया है क्योकि उसी दौरान एशियाई खेल होने हैं. हम चाहते हैं कि समारोह में अधिक से अधिक संख्या में खिलाड़ी , कोच और अधिकारी भाग लें. हमने राष्ट्रपति भवन को तारीख में बदलाव के लिये पत्र लिखा था .’’  उन्होंने यह भी कहा कि एशियाई खेलों में प्रदर्शन भी खेल पुरस्कारों के लिये पैमाना हो सकता है.

भटनागर ने कहा ,‘‘ इस साल पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ियों का चयन 30 अप्रैल से पहले भेजी गई प्रविष्टियों के आधार पर हो चुका है लेकिन सरकार के पास एशियाई खेलों में असाधारण प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का नाम अनुशंसा समिति को भेजने का प्रावधान है.’’  उन्होंने कहा ,‘‘ समिति की बैठक एशियाई खेलों के बाद होगी और वह तय करेगी . अगर वह कुछ और नाम जोड़ना चाहेगी तो चयनित खिलाड़ियों के साथ जोड़े जा सकते हैं . राजीव गांधी खेल रत्न सर्वोच्च खेल पुरस्कार है और एक साल में चार से अधिक खिलाड़ियों को नहीं दिया जा सकता.’’ अर्जुन पुरस्कार अभी तक एक साल में सर्वाधिक 17 खिलाड़ियों को दिया गया है . द्रोणाचार्य पुरस्कार श्रेष्ठ कोचों और ध्यानचंद पुरस्कार लाइफटाइम अचीवमेंट के लिये दिया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

14 महीने बाद वनडे में इस खिलाड़ी की हुई वापसी, मैदान पर फिर दिखा जादू

पिछले साल जुलाई के बाद अपना पहला वनडे