भटनागर ने कहा ,‘‘ इस साल पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ियों का चयन 30 अप्रैल से पहले भेजी गई प्रविष्टियों के आधार पर हो चुका है लेकिन सरकार के पास एशियाई खेलों में असाधारण प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का नाम अनुशंसा समिति को भेजने का प्रावधान है.’’  उन्होंने कहा ,‘‘ समिति की बैठक एशियाई खेलों के बाद होगी और वह तय करेगी . अगर वह कुछ और नाम जोड़ना चाहेगी तो चयनित खिलाड़ियों के साथ जोड़े जा सकते हैं . राजीव गांधी खेल रत्न सर्वोच्च खेल पुरस्कार है और एक साल में चार से अधिक खिलाड़ियों को नहीं दिया जा सकता.’’ अर्जुन पुरस्कार अभी तक एक साल में सर्वाधिक 17 खिलाड़ियों को दिया गया है . द्रोणाचार्य पुरस्कार श्रेष्ठ कोचों और ध्यानचंद पुरस्कार लाइफटाइम अचीवमेंट के लिये दिया जाता है.