भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह की बादल से मुलाकात से पहले बेचैन हुई कांग्रेस

चंडीगढ़। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह वीरवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के सबसे पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से यहां मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात से पहले ही कांग्रेस में बेचैनी दिखाई देने लगी है। शाह व बादल की बैठक से पूर्व ही कांग्रेस ने कहा है कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है। गुजरात व कर्नाटक चुनाव में राहुल के नेतृत्व का ही परिणाम है कि भाजपा को अकाली दल की याद आ गई है। शिअद ने भी पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस के नेता गांधी परिवार की खुशामद करने से कभी नहीं चूकती है।भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह की बादल से मुलाकात से पहले बेचैन हुई कांग्रेस

राहुल गांधी की वजह से भाजपा को याद आए बादल : जाखड़

कांग्रेस के प्रदेश प्रधान सांसद सुनील जाखड़ ने बुधवार को कहा कि चार साल तक भाजपा को अकाली दल की याद नहीं आई। गुजरात व कर्नाटक में राहुल गांधी के नेतृत्व का जो असर दिखा है उसके कारण अब भाजपा को अपने सहयोगियों की याद आनी शुरू हो गई है। उल्लेखनीय है कि अमित शाह वीरवार को पूर्व सीएम बादल के अलावा अकाली दल के अध्यक्ष व पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल के साथ भी चंडीगढ़ में बैठक करेंगे।

अकाली दल ने किया व्यंग्य, कांग्रेस की अतिविश्वास की दाद देनी होगी

जाखड़ ने कहा कि इस मुलाकात के लिए बादल को राहुल गांधी का धन्यवादी होना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि बादलों को अमित शाह के समक्ष किसानों द्वारा किए जा रहे आंदोलन, सतलुज यमुना लिंक (एसवाइएल) नहर, श्री गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म दिवस समारोह के लिए पंजाब सरकार द्वारा केंद्र से मांगे गए 2145.31 करोड़ रुपये का मुद्दा भी रखना चाहिए। जाखड़ ने जब यह मुद्दा उठाया तो उनके साथ ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सचिव हरीश चौधरी व पंजाब के दो मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और सुख सरकारिया भी मौजूद थे।

दूसरी तरफ, शिरोमणि अकाली दल ने बिना मौका गंवाए कांग्र्रेस पर व्यंग्य किया कि कांग्रेस के अतिविश्वास की दाद देनी चाहिए। कांग्रेस के नेता एक ऐसे प्रधान को  क्रेडिट देने का कोई मौका छोड़ते हैं जो देश भर में सारे चुनाव हार गया हो। अकाली दल के प्रवक्ता डाॅ. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि यह गठबंधन के दो पार्टियों के प्रधानों की मुलाकात है, इसमें कांग्रेस का कोई लेना-देना ही नहीं है। कांग्रेस के नेता केवल राहुल गांधी को खुश करने में जुटे हुए हैं।

जाखड़ बताएं, राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस कौन सा चुनाव जीती : चीमा

शिअद प्रवक्ता डाॅ. दलजीत चीमा ने कहा कि जाखड़ यह बताएं कि राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस कौन सा चुनाव जीती है? कांग्रेस की लगातार हार के बावजूद जाखड़ खुशामद करने में लगे हुए हैं। किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस को आड़ेहाथ लेते हुए चीमा ने कहा कि अकाली दल किसानों की ही पार्टी है और किसानों के ही बीच में रहती है। अकाली दल की मंशा कभी किसानों के मामले में क्रेडिट लेने की नहीं रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राहुल गाँधी के बचाव में आये ये नेता, बोले- पहले अपना ज्ञान बढ़ाये अमित शाह

नई दिल्‍ली। भारत में आगामी चुनाव बेहद काफी नजदीक