कैराना व नूरपुर उपचुनाव में दर्जनों स्थानों पर हुआ टकराव, पथराव और लाठीचार्ज

शामली। कैराना लोकसभा उपचुनाव के लिए हुए सोमवार को हुए मतदान में दर्जनों स्थानों पर भाजपा-महागठबंधन प्रत्याशियों के समर्थकों में टकराव हुआ। फर्जी मतदान की शिकायत पर रोक-टोक को लेकर ये भिड़ंत हुईं। इस दौरान पुलिस ने सख्ती बरतकर लोगों को खदेड़ा। पथराव और लाठीचार्ज में डेढ़ दर्जन लोग घायल हो गए।कैराना व नूरपुर उपचुनाव में दर्जनों स्थानों पर हुआ टकराव, पथराव और लाठीचार्ज

शामली नगर कोतवाली क्षेत्र के दिल्ली रोड तिमरसा और गांव बलवा के अलावा नगर के मोहल्ला नंदू प्रसाद में मतदान केंद्र के बाहर हंगामा कर रहे लोगों को पुलिस ने लाठी फटकार कर भगाया। कैराना के भूरा गांव के बूथ संख्या 173 पर एक युवती को मतदान से रोकने पर लोगों ने मतदान केंद्र के प्रथम अधिकारी नीटू को पीट दिया। इस पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर लोगों को खदेड़ा। जवाब में ग्रामीणों ने पथराव किया। जिस कारण पुलिस की एक कार, ड्यूटी में प्रयुक्त एक रोडवेज व प्राइवेट बस के शीशे टूट गए। ग्रामीणों ने पुलिस पर घर में घुसकर मारपीट करने और तोडफ़ोड़ का भी आरोप लगाया।

यहां लाठी चार्ज में करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए। पुलिस से बचने को तालाब में कूदे एक व्यक्ति का पैर टूट गया। एसपी ने बताया कि पुलिस पर पथराव करने के तीन आरोपितों को पकड़ लिया गया है। झिंझाना थाना क्षेत्र के गांव बल्ला माजरा में बूथ के पास भीड़ जमा कर रहे प्रधान किफायत और उसके समर्थकों को लाठीचार्ज करते हुए दौड़ा दिया। इस दौरान कई लोगों को चोट आई है। गांव टोडा में भाजपा एजेंट लोकेंद्र व रालोद एजेंट सनोज में मारपीट हो गई। बाद में पुलिस लोकेंद्र को पकड़कर अपने साथ चौकी पर ले गई थी।

बिजनौर में सपा के पूर्व सांसद व चेयरपर्सन का बेटा गिरफ्तार

नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में मतदान के दौरान आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में पुलिस ने पूर्व सपा सांसद यशवीर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उनकी गाड़ी को सीज कर दिया गया है। आरोप है कि वह बिना अनुमति के पूर्व सांसद लिखी गाड़ी से मतदाताओं को बैठाकर मतदान केंद्र तक पहुंचा रहे थे। उधर, चांदपुर चेयरपर्सन के बेटे अरशद को बिना अनुमति के वाहन से मतदाता ढोने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। दोनों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर थाने से जमानत दे दी गई।

उधर, पूर्व सांसद का कहना है कि गांव रहपनपुर में ईवीएम खराब होने की सूचना मिलने पर वे वहां जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया। एसपी देहात विश्वजीत सिंह श्रीवास्तव का कहना है कि पूर्व सांसद लिखी गाड़ी से यशवीर सिंह वोटर को मतदान केंद्र पर ले जा रहे थे।  दूसरी ओर मतदान के दौरान कई जगह भाजपा और रालोद कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई। भूरा गांव में वोटरों ने मतदान केंद्र अधिकारी का सिर फोड़ दिया।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बिहार बोर्ड के फर्जी अंकपत्र बनाने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़

एसटीएफ ने बिहार संस्कृत बोर्ड और वेस्ट बंगाल