Home > राज्य > पंजाब > सिद्धू के अवैध निर्माण गिराने के आदेश पर लगी सीएमअो की रोक

सिद्धू के अवैध निर्माण गिराने के आदेश पर लगी सीएमअो की रोक

जालंधर। शहर में अवैध निर्माण के मामले में स्‍थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कार्रवाई के बाद बने हालात की गूंज मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंच गई है। सीएमओ ने शहर में अवैध निर्माण तोड़ने के सिद्धू के आदेश पर फिलहाल रोक लगा दी है। दूसरी ओर, सिद्धू की कार्रवाई का विरोध करे रहे कांग्रेस के तीन विधायकों ने यहां सांसद चौधरी संतोख सिंह की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में अपनी नाराजगी जताई। उन्‍होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि पहले लोगों के लिए उचित नीति लेकर आए, फिर कार्रवाई करे।सिद्धू के अवैध निर्माण गिराने के आदेश पर लगी सीएमअो की रोक

पीएपी में दो घंटे चली बैठक में परगट सिंह को छोड़ अन्य विधायकों ने कार्रवाई का किया विरोध

पीएपी परिसर में हुई बैठक में शामिल रहे एक विधायक ने बताया कि अगले एक-दो दिन में सभी विधायक सिद्धू के साथ बैठक कर मामले पर चर्चा करेंगे। बैठक में परगट सिंह ने कहा कि वह दाैरे के समय सिद्धू के साथ रहे, लेकिन किसी भी हलके में कार्रवाई में उनका कोई हस्तक्षेप नहीं था। खुद उनके हलके में जो कार्रवाई हुई है उसे भी वह सही ठहराते हैं।

बैठक में शामिल रहे एक विधायक ने बताया कि परगट सिंह और एक अन्य विधायक में हल्की बहस भी हुई। बैठक में सांसद चौधरी संतोख सिंह, मेयर जगदीश राजा, विधायक बावा हैनरी, विधायक परगट सिंह, विधायक राजिंदर बेरी और विधायक सुशील रिंकू के अलावा सीपी पीके सिन्हा, निगम कमिश्नर बसंत गर्ग और डीसी वङ्क्षरदर कुमार शर्मा मौजूद रहे।

पहले निकाय मंत्री से ही मिलना होगा

सूत्रों के मुताबिक, नाराज तीनों विधायक सीधे मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से मिलकर मंत्री सिद्धू की शिकायत करना चाहते थे। नाराज विधायकों ने मुख्यमंत्री कार्यालय से संपर्क भी किया गया था, लेकिन सीएम कार्यालय ने विधायकों से स्पष्ट कहा कि मुख्यमंत्री से मिलने से पहले उन्हें स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से ही मिलना होगा। मंत्री से मिलकर वे अपना पक्ष रखें। इसके बावजूद कोई हल नहीं निकलता है तो विधायक मुख्यमंत्री से भी मिल सकते हैं।

” बैठक में परगट सिंह से नाराजगी जताने जैसी कोई बात नहीं हुई। फैसला लिया गया कि विधायक स्‍थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से मुलाकात कर मसले का हल ढूंढेंगे।

                                                                                                         – चौधरी संतोख सिंह, सांसद।

” बैठक में हाल ही में शहर में हुई कार्रवाई पर चर्चा हुई। नाराजगी जैसी कोई बात नहीं थी। पूरे मामले में अब स्थानीय निकाय मंत्री से चर्चा होगी। विधायक परगट सिंह से नाराजगी नहीं है।

                                                                                            – सुशील रिंकू, विधायक, जालंधर वेस्ट।

” सिद्धू की कार्रवाई पर ज्यादा चर्चा नहीं हुई। नाराजगी है और इस पर अगले एक-दो दिनों में मंत्री से मुलाकात के दौरान चर्चा कर वे और अन्य विधायक अपना पक्ष रखेंगे।

                                                                                          – राजिंदर बेरी, विधायक, जालंधर सेंट्रल।

” नाराजगी जताने जैसी कोई बात नहीं हुई। इस तरह की बैठक होती है तो हर विधायक अपने हलके या शहर के विकास की बात रखता है। इसके अलावा कुछ ज्यादा नहीं।

                                                                                                – बावा हैनरी, विधायक, जालंधर नॉर्थ।

Loading...

Check Also

पति-पत्नी ने आठ लोगों से ठग लिए 42 लाख, तरीका जान आप भी चौंक जाएंगे

पति-पत्नी ने आठ लोगों से ठग लिए 42 लाख, तरीका जान आप भी चौंक जाएंगे

ठगी के बहुत से मामले आपने पढ़े और सुने होंगे। लेकिन ये मामला जरा हटके …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com