हरियाणा में सीएम ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ कराने की अटकलें की खारिज

पानीपत। मुख्यमंत्री मनोहर लाल का राज्‍य में तीन दिनों का दौरा शुक्रवार को दूसरे दिन भी जारी है। मुख्‍यमंत्री ‘चाय पर चर्चा-कनेक्ट टू पीपुल’ कार्यक्रम के तहत तीन दिन में 15 जिलों में लोगों से मिलेंगे। उन्‍होंने  चाय पर लोगों के साथ चर्चा में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ करने की अटकलें सिरे से खारिज कर दीं। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में विधानसभा चुनाव तय समय पर ही होंगे।हरियाणा में सीएम ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ कराने की अटकलें की खारिज

चाय पर चर्चा-कनेक्ट टू पीपुल कार्यक्रम के तहत लोगों से रूबरू हो रहे हैं मुख्यमंत्री

मुख्‍यमंत्री ने बृहस्‍पतिवार सुबह चंडीगढ़ में कैबिनेट के मंत्री समूह की बैठक के बाद यह यात्रा शुरू की थी। वह अंबाला, कुरुक्षेत्र और कैथल होते हुए रात्रि पड़ाव के लिए जींद पहुंच गए। इसके बाद उन्‍होंने जींद से अपने कार्यक्रम की शुरूअात की। अपनी यात्रा के दौरान लोगों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने सितंबर से अक्टूबर माह के बीच प्रदेश के सात नगर निगमों के चुनाव की संभावना जताई। मुलाकातों के दौरान लोगों की उम्मीदें बार-बार सामने आईं। गुस्सा और दर्द से भी रू-ब-रू हुए।

सात नगर निगमों का चुनाव सितंबर या अक्टूबर में होने की संभावना

बृहस्‍पतिवार को यूं चला सीएम का अभियान

अंबाला: मुख्यमंत्री ने जनसंपर्क अभियान के दौरान गांव पतरेहड़ी में बीएलए टू हिशम सिंह, मघ्घरपुरा में भाजपा युवा मोर्चा प्रधान एवं बीएलए टू कमल गोंदी और साहा में भाजपा के जिला महामंत्री सतीश मेहता के आवास पर आयोजित कार्यक्रमों में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

कुरुक्षेत्र : इस्माईलाबाद पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सुरक्षा घेरे को पीछे छोड़कर लोगों से मुलाकात की। अधिकारियों द्वारा उपेक्षा के संबंध में कार्यकर्ताओं की पीड़ा सुनी। लोकसभा चुनाव देखरेख कमेटी के साथ चाय पर चर्चा में सत्ता व संगठन के बीच तालमेल के निर्देश देकर कलसानी गांव पहुंचे। दोपहर 12 बजे ठोल गांव की अनाज मंडी में ग्रामीणों को संबोधित किया। पुराना बाजार में उन्होंने साफ कर दिया कि इस दौरे का उद्देश्य फीडबैक प्राप्त करना है। उसी के अनुसार सरकार अपनी कार्यशैली में बदलाव लाएगी।

कैथल : गांव क्योड़क… एक कमरे का मकान और बाहर पुलिस का भारी तामझाम। समय दोपहर करीब 3:40 बजे दर्जन भर गाडिय़ों का दनदनाता काफिला सुरेश वाल्मीकि के घर के आगे आकर रूका। मुख्यमंत्री मनोहर लाल गाड़ी से उतरे। यह पहला अवसर था, जब मुख्यमंत्री अपने गोद लिए गांव में एक गरीब कार्यकर्ता के घर चाय पर चर्चा के बहाने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी, बच्चे और माता-पिता से मुलाकात की।  हालचाल पूछा। सुरेश भावुक थे। उन्होंने कहा कि यह सुदामा के घर भगवान के पहुंचने जैसा है। बात्ता व कलायत में कार्यकर्ताओं के घर पहुंचे। नरवाना में रात करीब 8 बजे गांव ढाकल में जिला पार्षद ङ्क्षपकी देवी के घर पहुंचे।

शिक्षा विभाग की भर्तियों में भ्रष्टाचार की जांच के आदेश

मुख्यमंत्री ने कैथल में पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि प्रदेश में आउटसोर्सिंग के माध्यम से 19 कंपनियों को शिक्षा विभाग में ऑनलाइन टेंडर से भर्ती करने के लिए सूचीबद्ध किया गया था। इनमें 12 कंपनी हरियाणा की तथा अन्य सात कंपनियां दिल्ली, गुजरात व महाराष्ट्र की हैं। इन कंपनियों द्वारा की गई भर्तियों में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिलने पर सरकार द्वारा इन भर्तियों को रद्द करते हुए जांच के आदेश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: भड़काऊ भाषण देने पर सपा के पूर्व सांसद के खिलाफ मामला दर्ज

बरेली जिला पुलिस ने सपा के पूर्व सांसद वीरपाल