CBSE पेपर लीक: तनाव में 28 लाख छात्र, कई शहरों में छलका इनका दर्द

- in राष्ट्रीय

सरकार पेपर लीक की उच्च स्तरीय जांच करा रही है लेकिन ये सवाल अपनी जगह बना हुआ है कि इतने पुख्ता इंतजाम के बावजूद पेपर लीक कैसे हो गए? दिल्ली पुलिस ने छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले पेपर लीक के आरोपी विक्की को गिरफ्तार कर लिया हैं और उससे पूछताछ की जा रही है. वहीं इससे बौखलाए छात्र दिल्ली के जंतर-मंतर समेत देशभर में प्रदर्शन कर रहे हैं.

 

आपको बता दें कि इस लीक ने देशभर के 28 लाख छात्रों को तनाव में डाल दिया है. सीबीएसई बोर्ड के दो पेपर लीक हुए हैं और अब ये पेपर फिर से करवाए जाएंगे. 10वीं की परीक्षा दे चुके छात्रों को गणित और बारहवीं की परीक्षा दे रहे छात्रों को अर्थशास्त्र का पेपर दोबारा देना होगा. पिछले महीने प्रधानमंत्री ने देश के लाखों छात्रों से कहा था कि वो तनावमुक्त होकर परीक्षा दें लेकिन अब ये छात्र भयानक तनाव में हैं.

पेपर लीक पर वाड्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए सरकार से पूछे ये सवाल

जंतर-मंतर पर छात्रों का प्रदर्शन

 

जब एबीपी न्यूज ने देश के अलग-अलग हिस्सों से छात्रों का दर्द जानने की कोशिश की तब उनके दर्द खुलकर सामने आया. दिल्ली के एक प्रदर्शनकारी छात्र हमज़ा ने कहा कि CBSE ने पेपर लीक करवा दिया और अब छात्रों को दोबारा पेपर देना होगा. वहीं उनका कहना है कि छात्र CBSE के फिर से परीक्षा करवाने के फैसले का विरोध करेंगे.

 

बच्चों का कहना है कि इसमें CBSE के लोगों का हाथ है वरना पेपर लीक नहीं होता. हमजा ने कहा कि सिर्फ दो विषयों के ही नहीं बाकी सभी विषयों के पेपर भी लीक हुआ हैं और CBSE इसे रोकने में नाकाम रही है. उनका कहना है कि CBSE खुद तो कुछ कर नहीं पाई और छात्रों से दोबारा परीक्षा ले रही है.

 

जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रही 10वीं की छात्रा अदीबा का कहना है कि उन्हें इस बात की बेहद खुशी थी कि ये उनके जीवन में मैथ आखिरी पेपर है लेकिन जब उन्हें पता चला कि पेपर लीक हुआ है और उन्हें दोबारा परीक्षा देनी पड़ेगी तब उन्हें धक्का लगा. उन्होंने आगे कहा कि CBSE की गलती के सज़ा छात्र क्यों भुगतें.

 

‘पूरे साल पढ़ाई करने वालों को सबसे ज़्यादा नुकासन’

 

देश की सबसे ऊपरी छोर पर बसे जम्मु के एक छात्र प्रणब साहनी का कहना है कि ये उनके साथ खिलवाड़ हुआ है और उन्होंने जो किया वो सब बेकार चला गया. जम्मु के ही ऋषभ कश्यप का कहना है कि जब पीएम ने इसमें सीधे तौर पर रुची ले रहे हैं तो इसे जल्द से जल्द ठीक किया जाना चाहिए. दिल्ली से सटे पंजाब के आदित्य मलिक ने कहा कि इस पेपर लीक ने उन्हें बहुत तनाव में डाल दिया है और उन्हें अब समझ में नहीं आ रहा कि उन्हें क्या करना है.

 

पंजाब के ही अभिषेक गुप्ता का कहना है कि CBSE पेपर लीक से उन्हें सबसे ज़्यादा नुकसान होगा जिन्होंने पूरा साल पढ़ाई करके पेपर दिया था क्योंकि उनकी मेहनत पर पानी फिर गया. आपको बता दें कि बच्चों को तनाव मुक्त परीक्षा की राह दिखाने वाले पीएम मोदी इस घटनाक्रम से बेहद नाराज़ हैं.  उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से इसपर बातचीत भी की है.

You may also like

बड़ी खबर: पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन पर लगा ब्रेक, अब प्रोजेक्ट पर आगे बढ़ने से पहले..

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बुलेट ट्रेन ड्रीम प्रोजेक्ट को बड़ा