चतुराई, साजिश व चालाकी से सफलता हासिल नहीं हो सकती: सीएम योगी

नोएडा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय (जीबीयू) में दीप जलाकर बतौर कुलाधिपति नए शैक्षणिक सत्र का शुभारंभ किया। इससे पहले उन्होंने साइकिल योजना की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने यहां पर बने विशाल ऑडिटोरियम में छात्र-छात्राओँ को संबोधित किया। ऑडिटोरियम में जीबीयू के 2500 विद्यार्थियों थे, जिनमें 150 विदेशी विद्यार्थी भी शामिल थे। कार्यक्रम में शामिल होने वाले छात्रों और अन्य लोगों को प्रशासन की तरफ से अस्थाई पहचान पत्र जारी किए गए थे। इस दौरान उन्होंने छात्र-छात्राओं को प्रेरणादायक बातें बताई तो राजनीतिक विरोधियों पर कड़े प्रहार भी किए। करीब एक घंटे के संबोधन में मुख्यमंत्री ने युवाओं में नई ऊर्जा व जोश का संचार किया।चतुराई, साजिश व चालाकी से सफलता हासिल नहीं हो सकती: सीएम योगी

भारत में सब बराबर
अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि देश में अनेक परंपराएं हैं। अनेक प्रकार के रीति रिवाज हैं और कई धर्मों के अनुयाई देश में रहते हैं। यहां पर सब बराबर हैं, किसी पर यह दबाव नहीं है कि उसे किस धर्म का अनुयाई बनना है। भारत ने दुनिया को ज्ञान दिया है कि हम किसी को मजहब, संप्रदाय, धर्म के नाम पर बांधकर नहीं रखते।भारत में हर व्यक्ति को अपनी इच्छा के हिसाब से धर्म और पूजा करने की स्वतंत्रता है।

जीवन में नैतिक मूल्य जरूरी
सीएम योगी ने छात्र-छात्राओं से मुखातिब होने के दौरान कहा कि नैतिक मूल्यों का अनुसरण करना चाहिए, इससे जीवन में सफलता मिलती है। महात्मा बुद्ध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बुद्ध की शिक्षा हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। बौद्ध शिक्षा को ग्रहण कर आगे बढ़ने का मार्ग मिलेगा। गौतम बुद्ध ने दुनिया को शांति का संदेश दिया। बुद्धि और विवेक नहीं होगा तो शातिरों के जाल में फंस जाएंगे। इसलिए बुद्धि और विवेक होना जरूरी है। दुनिया आतंकवाद से झुलस रही है और भारत के पास बहुत कुछ है दुनिया को देने के लिए। बुद्ध के मार्ग पर चल कर आतंकवाद को खत्म किया जा सकता है।

भारत की राष्ट्रीय एकता अनूठी
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत की पारिवारिक सामाजिक और राष्ट्रीय एकता अनूठी है, लेकिन विकास के मार्ग में जातिवाद और क्षेत्रवाद, भाषावाद, नक्सलवाद और आतंकवाद बाधा है। देश को आगे ले जाना है तो युवाओं को आगे आना होगा। भारत मानवता के कल्याण का केंद्र बनेगा और देश हमेशा मानव कल्याण के लिए काम करता है। 

कठिन परिश्रम ही व्यक्ति को आगे ले जाता है
युवाओं को प्रेरित करते हुए उन्होंने कहा कि बुद्ध ने जीवन को पलायन नहीं कहा, इसलिए छात्रों को हर विषम परिस्थिति का सामना करना चाहिए। कठिन से कठिन परिस्थिति में घबराना नहीं चाहिए। असफलता से निराश नहीं होना चाहिए, डरना नहीं चाहिए। कठिन परिश्रम ही व्यक्ति को आगे ले जाता है। सफलता के मार्ग पर चलना होगा, लेकिन इसके लिए खुद को तैयार करना होगा। सकारात्मक सोच के साथ हम जीवन में बहुत कुछ कर सकते हैं। हमें किसी की बुराई नहीं देखनी है उसकी अच्छाई देखनी है। किसी की निंदा नहीं करनी चाहिए।

चतुराई, साजिश व चालाकी से सफलता हासिल नहीं हो सकती
नकारात्मक सोच वाले आगे बढ़ते जरूर हैं, लेकिन उनके जीवन में ठहराव आ जाता है। उनकी सफलता रुक जाती है। चतुराई, साजिश और चालाकी से स्थाई सफलता हासिल नहीं हो सकती। वही व्यक्ति सफलता हासिल करता है जो सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ता है।

प्रकृति की रक्षा जरूरी
योगी ने कहा कि प्रकृति के साथ छेड़छाड़ ठीक नहीं है। प्रकृति के साथ छेड़छाड़ की वजह से ही पर्यावरण गड़बड़ा रहा है। पर्यावरण की तरफ ध्यान देने की जरूरत है और हमें प्रकृति के साथ छेड़छाड़ को रोकना होगा। मानसून में बड़ी संख्या में पौधे लगाए जाने चाहिए।

भाजपा सरकार ने प्रदेश में किया काम
प्रदेश में विकास को लेकर उन्होंने कहा कि समूचे प्रदेश में स्ट्रीट लाइटों की जगह एलईडी लगाई जाएंगी। प्रदेश में 400000 लोगों को एलईडी बल्ब दिए गए। उत्तर प्रदेश में जब से भाजपा आई है तब से कार्यों में पारदर्शिता आई है। इससे ऊर्जा की बचत हो रही है और पर्यावरण को भी इससे लाभ हो रहा है।

विरोधियों पर बोला हमला
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विरोधियों पर भी हमले किए। उन्होंने कहा कि खाद्यान आपूर्ति में भी पारदर्शिता लाई गई है। सपा-बसपा सरकार में राशन सामग्री गोदामों से बाहर निकलते ही बेच दी जाती थी, इसको कड़ाई से रोका गया है। प्रदेश में 80000 राशन की दुकान है, इनमें भ्रष्टाचार रोका गया है। पिछले एक साल में 360 करोड़ रुपये के राशन की चोरी रोककर बचत की गई है।

युवा करना चाहता है अपना व्यवसाय
मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं में प्रतिभाएं हैं। उनके पास नए आइडियाज हैं। युवा नौकरी नहीं करना चाहता, बल्कि अपना स्वयं का व्यवसाय करना चाहता है। युवाओं को नई दिशा देने की जरूरत है। युवाओं का कौशल निखारना होगा। इससे वह स्वयं का व्यवसाय खड़ा कर दूसरों को भी रोजगार दे सकेंगे। ऐसे में अब प्रदेश में जगह-जगह कौशल केंद्र की स्थापना की जाएगी, ताकि युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा सके। प्रदेश सरकार की योजना हर जिले में कौशल केंद्र खोलने की है।

युवा करेंगे नए भारत का निर्माण
स्टार्टअप के लिए बजट में अलग से व्यवस्थता की गई है। प्रदेश का युवक रोजगार के लिए अन्य राज्यों में नहीं  जाएगा,। उन्हें यहीं पर रोजगार दिलाया जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार 200000 युवाओं को उनके घरों पर ही रोजगार दिया जाएगा। इसके लिए उऩ्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रदेश में रोजगार की व्यापक संभावना है, इन्हें टटोलना होगा। भारत ने समूची दुनिया में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। युवा एक नई दिशा की तरफ बढ़े, तभी नए भारत का निर्माण होगा।

विरोधियों पर साधा निशाना
कुछ लोग भारतीयता को अपमानित करना चाहते हैं और संस्कृति को किसी न किसी रूप में अपमानित करना चाहते हैं उन्हें जवाब दिया जाएगा। गौतम बुद्ध के बताए मार्ग पर चलकर उनकी सोच बदलनी होगी।

संबोधन से पहले योगी ने जीबीयू में चार और परियोजनाओं की शुरुआत की। विवि के विद्यार्थियों के लिए साइकिल योजना की शुरुआत उन्होंने झंडी दिखाकर की।

सीएम योगीने विश्वविद्यालय परिसर के गीता उपवन में रुद्राक्ष का पौधा भी लगाया। जीबीयू पहुंचने से पहले सीएम योगी ने कांवड़ यात्रा के इंतजामों का हवाई यात्रा के जरिये निरीक्षण भी किया। 

संबोधन से पहले योगी ने जीबीयू में चार और परियोजनाओं की शुरुआत की। विवि के विद्यार्थियों के लिए साइकिल योजना की शुरुआत उन्होंने झंडी दिखाकर की।

सीएम योगीने विश्वविद्यालय परिसर के गीता उपवन में रुद्राक्ष का पौधा भी लगाया। जीबीयू पहुंचने से पहले सीएम योगी ने कांवड़ यात्रा के इंतजामों का हवाई यात्रा के जरिये निरीक्षण भी किया। 

इससे पहले मुख्यमंत्री के आगमन के मद्देनजर जीबीयू के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। सुबह आठ बजे से ही जीबीयू परिसर समेत आसपास के मार्गों पर पुलिस बल तैनात कर बैरीकेड लगा दिए गए थे। सुबह से ही पुलिस, एलआईयू और बम निरोधक दस्ते की टीमें जीबीयू परिसर के चप्पे-चप्पे की जांच में जुट गई थी।

उनके द्वारा विवि में गीता उपवन, सौर ऊर्जा संयत्र व विवि के विद्यार्थियों के लिए साइकिल योजना की शुरुआत की जाएगी। हरियाली बढ़ाने के उद्देश्य से गीता उपवन में लगभग 3500 पौधे लगाए जाएंगे। ज्यादातर पौधे फलों के होंगे। विवि का वार्षिक बिजली का बिल लगभग 10 करोड़ रुपये है।

सौर ऊर्जा संयत्र शुरू होने से विवि को प्रतिवर्ष लगभग 3 करोड़ रुपये की बचत होगी। साइकिल योजना में हीरो कंपनी के करार के तहत विवि को 200 साइकिल मिली हैं। विद्यार्थी एप के माध्यम से साइकिल का उपयोग करेंगे। आधे घंटे तक साइकिल उपयोग पर विद्यार्थी को 5 रुपये देने होंगे।

Loading...

Check Also

उदयपुर में ईशा अंबानी के प्री-वेडिंग की तैयारियांं शुरू

उदयपुर में ईशा अंबानी के प्री-वेडिंग की तैयारियांं शुरू

एशिया के सबसे अमीर उद्यमी उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की शादी 12 दिसम्बर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com