ब्रिटिश एयरवेज की हैकिंग, लाखों ग्राहकों की पेमेंट डिटेल चोरी

एयरलाइन ने कहा कि डेटा में सेंधमारी 21 अगस्त की रात 10.58 बजे और पांच सितंबर की रात 9.45 बजे के बीच हुई. एक बयान में गुरुवार रात कहा गया, इस दिक्कत को सुलझा लिया गया है और हमारी वेबसाइट ठीक ढंग से काम कर रही है.

बयान में आगे कहा गया, हमने पुलिस और इससे जुड़े अधिकारियों को बता दिया है. इस आपराधिक करतूत के चलते आईं रुकावटों के लिए हमें बहुत खेद है. हम अपने ग्राहकों के डेटा की सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेते हैं.

ब्रिटिश एयरवेज ने कहा कि बुकिंग करने वाले ग्राहकों के निजी और फायनेंसियल डेटा से समझौता किया गया. लगभग 380,000 लेनदेन प्रभावित हुए थे लेकिन चोरी किए गए डेटा में यात्रा या पासपोर्ट ब्योरा शामिल नहीं थे.

जिन ग्राहकों के डेटा चोरी हुए उनसे गुरुवार रात संपर्क किया गया. ब्रिटिश एयरवेज के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी एलेक्स क्रूजने कहा, अपराध की इस घटना से लोगों को हुई दिक्कतों के लिए हम खेद जताते हैं. अपने ग्राहकों के डेटा की सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेते हैं.

ब्राजील: राष्ट्रपति उम्मीदवार पर रैली में चाकू से हमला, बेटे ने कहा-प्रार्थना करें

सेंधमारी बनी बड़ी समस्या

फेसबुक के डेटा लीक का मामला अभी दुनिया भर में सुर्खियों में ही है कि इस बीच ब्रिटिश एयरवेज का मामला सामने आ गया. इतनी ही नहीं, दिग्गज अंतरराष्ट्रीय ट्रैवल फर्म एक्सपीडिया के स्वामित्व वाली कंपनी ऑर्बिट्ज ने स्वीकार किया है कि उसके 8.8 लाख ग्राहकों के क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी एक हैकर तक पहुंच गई है.

कंपनी से जुड़े अमेरिकन एक्सप्रेस जैसी कंपनियों के वे क्रेडिट कार्ड ग्राहक इस साइबर अटैक से प्रभावित हुए, जो ऑर्बिट्ज की साइट से यात्रा के लिए टिेकट बुक करते हैं. कंपनी ने कहा है कि, ‘मार्च में यह पता चला कि एक हैकर ने पिछले दो साल (जनवरी 2016 से दिसंबर 2017 तक की) की ग्राहकों के बारे में जानकारी चुरा ली है. हैकर ने ग्राहकों के नाम, डेट ऑफ बर्थ, कार्ड नंबर जैसी महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर ली हैं.

इस घटना से क्रेडिट कार्ड ग्राहकों का बेचैन होना स्वाभाविक है, क्योंकि ऐसी जानकारियां हासिल कर हैकर उनके ऑनलाइन उनके कार्ड नंबर से भारी खर्च कर सकता है. कंपनी का दावा है कि इस घटना का पता लगने के बाद उसने अपने प्लेटफॉर्म की सुरक्षा बढ़ा दी है और उसकी मौजूदा वेबसाइट पूरी तरह से सुरक्ष‍ित है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चीन का कर्ज बढ़कर 2,580 अरब डॉलर हुआ

चीन का बढ़ता कर्ज अब 2,580 अरब डॉलर