बोल्सोनारो अपने नस्लीय, कामुकतावादी और समलैंगिक बयानों के लिए खासे चर्चा में रहे हैं. उन्हें ब्राजील के लोग ‘ब्राजील का ट्रंप’ भी कहकर बुलाते हैं. बोल्सोनारो को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों और उनके परिवार के सदस्यों ने कहा कि अब उनकी हालत स्थिर है. उनके बेटे फ्लावियो बोल्सोनारो ने ट्वीट कर कहा कि दुर्भाग्य से यह हमला बहुत गंभीर था. उनका लीवर, फेफड़े और आंतें क्षतिग्रस्त हुई हैं. उनका काफी खून बह चुका है और उनके अस्पताल में लगभग मरणासन्न की स्थिति में लाया गया. अब उनकी हालत स्थिर लग रही है. कृपया उनके लिए प्रार्थना करें.

अमीरात एयरलाइन की फ्लाइट में एक साथ बीमार पड़े कई यात्री, जानें क्यों?

ब्राजील की संघीय पुलिस ने एक शख्स को किया गिरफ्तार

ब्राजील की संघीय पुलिस का कहना है कि उन्होंने एक शख्स को गिरफ्तार किया है, जिसकी पहचान 40 वर्षीय एडेलियो बिस्पो ओलिवेरा के रूप में की गई है. बोल्सोनारो मौजूदा चुनाव में सर्वाधिक विवादित उम्मीदवार हैं क्योंकि वह ब्राजील की 1964-1984 सैन्य तानाशाही का समर्थन करते हैं. उन पर हिंसा भड़काने के लिए अदालत में मामला भी चल रहा है.