ईशनिंदा का लगा आरोप, चौथी मंजिल से लगा दी छलांग

- in अपराध
पाकिस्तान के लाहौर में एक ईसाई शख्स पर ईशनिंदा का आरोप लगा है जिसके बाद वह संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के दफ्तर की चौथी मंजिल से कूद गया। 28 वर्षीय साजिद मसीह को गंभीर हालत में मेयो अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसने बताया कि रीगल चौक स्थित जांच एजेंसी एफआईए मुख्यालय पर उसे पूछताछ के बुलाया गया था। वहां अधिकारियों ने कथित तौर पर उसके साथ अत्याचार किया और उसका मोबाइल फोन छीन लिया।

 

इतना ही नहीं साजिद ने बताया कि वो मुझसे खुद को गाली देने को कह रहे थे पर मैनें ऐसा करने से मना कर दिया। उसके बाद उन्होंने मुझसे मेरे चचेरे भाई का यौन शोषण करने को कहा, मैं शांत रहा और फिर इमारत से नीचे कूद गया। वहीं इन सारे आरोपों को एफआईए के एक प्रवक्ता ने दरकिनार करते हुए कहा कि हमने इसलिए युवक को पूछताछ के लिए बुलाया था क्योंकि वह फेसबुक पर एक ऐसे ग्रुप का सदस्य था जो निंदात्मक सामग्री का प्रचार प्रसार करता था।

शादी में दूल्हे को मिला ब्लास्ट गिफ्ट, मौत

जह हमने आरोपी से उसका फोन अनलॉक करने को कहा तो वो घबरा गया और बिल्डिंग से छलांग लगा दी। किसी ने उसे हाथ तक नहीं लगाया। डॉक्टरों का कहना है कि मसीह को पैरों, पसलियों और जबड़े में कई फ्रैक्चर आए हैं। पर अब वो खतरे से बाहर है। बता दें कि पुलिस ने कुछ दिनों पहले तहरीक-ए-लाबाइक या रसूल अल्लाह (टीएलवाईआरए) और अन्य धार्मिक दलों के शाहदरा इलाके में इकट्ठे होने के बाद मसीह को गिरफ्तार करके एक अज्ञात स्थान पर शिफ्ट कर दिया था।

कुछ समय बाद पुलिस ने मसीह को एफआईए के हवाले कर दिया। उसपर मुस्लिमों के पवित्र स्थलों को लेकर अपने फेसबुक अकाउंट से ईशनिंदा वाली सामग्री पोस्ट करने का आरोप है। इस मामले में लापरवाही बरतने की वजह से जांच एजेंसी ने दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। चार अधिकारियों के खिलाफ जांच की जा रही है। यदि वह आरोपी पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

 

You may also like

छोटी सी बात पर प्रेमिका ने प्रेमी को मारा चाकू, वीडियो बनाते रहे लोग

आए दिन होने वाली अपराध की घणाए कम