तो सुना आपने विराट के मुताबिक 4 साल पहले जब आखिरी बार टीम इंडिया साउथैम्प्टन में खेली थी तो दूसरी पारी में स्पिनर का रोल अहम हो गया था. और, इस बार के विकेट में भी विराट को वही बात नजर आ रही है. ऐसे में अगर वो अश्विन और जडेजा दोनों के साथ मैदान पर उतर सकते हैं.

ICC में जडेजा का जलवा

बता दें जडेजा इस वक्त ICC टेस्ट रैंकिंग में नंबर 3 गेंदबाज हैं. ICC की टॉप 5 गेंदबाजों की लिस्ट में वो इकलौते स्पिनर हैं. इसके अलावा वो नंबर 2 ऑलराउंडर भी हैं. यानी सरजी के नाम से फेमस जडेजा को अगर खेलते हैं तो इससे न सिर्फ अश्विन के साथ वो स्पिन डिपार्टमेंट में विराट के अहम हथियार बनेंगे बल्कि भारत की बल्लेबाजी और फील्डिंग भी चुस्त दुरुस्त होगी.

2018 में खेला सिर्फ 1 टेस्ट

जडेजा ने इस साल सिर्फ 1 टेस्ट मैच खेला है जबकि भारत से बाहर उन्होंने आखिरी टेस्ट अगस्त 2017 में श्रीलंका में खेला था. इसके अलावा साउथ अफ्रीका दौरे पर उन्हें एक भी टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिला. इंग्लैंड में भी वो अपनी बारी के इंतजार में है, जो शायद साउथैम्प्टन में खत्म होने वाला है. हालांकि, लॉर्ड्स टेस्ट में भारत 2 स्पिनर के साथ मैदान पर उतरा था लेकिन वहां जडेजा पर कुलदीप यादव को तरजीह देकर उन्हें अश्विन का जोड़ीदार बनाया गया था.

अश्विन के साथ जमाएंगे रंग

अश्विन के साथ जडेजा को खिलाने के विराट के दिए संकेत में दम इसलिए भी नजर आ रहा है क्योंकि वो पिछले 3 दिन से खिलाड़ियों के मेन ग्रुप के साथ जमकर अभ्यास कर रहे हैं. अश्विन इस सीरीज में अब तक 8 विकेट ले चुके हैं. और जैसा कि साउथैम्प्टन की पिच के मिजाज के बारे में बताया जा रहा है अगर अश्विन को दूसरे छोर से जडेजा का साथ मिल गया तो एक लंबे अंतराल के बाद ये जोड़ी 22 गज के एरिया में अपना आतंक मचाती नजर आएगी.