गोवा से फरार अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स तस्कर पानीपत में हुआ गिरफ्तार

- in पंजाब, राज्य

लुधियाना/पानीपत। पंजाब के अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स माफिया गिरोह के सरगना को राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआइ) की टीम ने पानीपत के सिवाह के एक अस्पताल से पकड़ा है। वह गोवा से लुधियाना जाते वक्त गिरफ्तारी से बचने के लिए अस्पताल में दाखिल हो गया था। एनआरआइ जिम्मी सिंह संधू को डीआरआइ की टीम ने पकड़ा।गोवा से फरार अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स तस्कर पानीपत में हुआ गिरफ्तार

डीआरआइ के मुंबई क्षेत्र के सीनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर सत्य प्रकाश ने बताया कि एक टीम लुधियाना निवासी एनआरआइ जिम्मी सिंह संधू का पीछा कर रही थी। जिम्मी पानीपत में जीटी रोड सिवाह के एक निजी अस्पताल में भर्ती हो गया। टीम ने अपने स्तर पर जांच की तो आरोपित का सुराग लग गया। उन्होंने अस्पताल में पहुंच कर संधू को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया। टीम ने आरोपित को मुंबई कोर्ट में पेश किया। जहां से उसको मुबंई स्थित आर्थर रोड जेल में भेज दिया है।

अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट का किंगपिन है जिम्मी सिंह संधू

डीआरआइ के अनुसार जिम्मी लुधियाना के समराला के खन्ना रोड क्षेत्र का निवासी है। वह कनाडा में जाकर बस गया था। मारपीट और दूसरे आरोप लगने के बाद 2015 में कनाडा से डिपोर्ट कर दिया गया था। जिम्मी सिंह संधू ने कनाडा से आने के बाद गोवा में केटामाइन ड्रग्स की फैक्टरी लगा ली और ड्रग्स तस्करी करने लगा। इसके बाद वह अंतरराष्‍ट्रीय ड्रग्‍स रैकेट का किंगपिन बन गया।

तीन पंजाबियों सहित 11 आरोपित किए गिरफ्तार

डीआरआइ की एक टीम ने 11 जून को जिम्मी संधू गोवा स्थित फैक्टरी पर छापा मारा। लेकिन, जिम्मी वहां से बचकर भाग निकला। इस बीच टीम ने इसके 11 साथियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें दो आरोपित ब्रिटेन और एक वियतनाम का है। बाकी आठ आरोपित भारत के हैं। इन आठ में तीन आरोपित पंजाब के हैं।

पांच दिन में 20 किलोग्राम केटामाइन करते थे तैयार

जिम्मी गोवा में केटामाइन की फैक्टार चलाता था। केटामाइन की अंतरराष्ट्रीय बाजार में 25 लाख रुपये प्रति किलोग्राम कीमत है। जिम्‍मी और उसके साथी इस फैक्टरी में पांच दिन में 20 किलोग्राम केटामाइन तैयार कर लेते थे। इस तरह वह हर माह करीब 30 करोड़ रुपये के ड्रग की तस्‍करी करता था। जिम्‍मी आैर उसके साथी इस ड्रग को यूके, कनाडा, वियतनाम और मोरिसस समेत अन्य कई देशों में सप्लाई करते थे। टीम के एक सदस्य ने बताया कि इनकी टीम हरियाणा और पंजाब में भी केटामाइन सप्लाई करती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

करतारपुर साहिब विवाद मामले में सिद्धू का पलटवार, कहा-अब क्या कुंभकर्ण की नींद सोने वाले मुझे देशभक्ति सिखाएंगे

चंडीगढ़। पिछले कुछ समय से राजनितिक गलियारों में चर्चा