चीन की एक तिहाई से अधिक आबादी निकट दृष्टिदोष (मायोपिया) से पीड़ित है. यानी उन लोगों को दूर की चीजें साफ नजर नहीं आती. इनमें भी 19 वर्ष से कम उम्र के लोगों की संख्या अधिक है. ग्लोबल टाइम्स ने चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग की ओर से जारी आंकड़ों के हवाले से बताया कि चीन में दृष्टिदोष मायोपिया से पीड़ित लोगों की संख्या 45 करोड़ हो गई है, जो आधी आबादी का एक तिहाई है.

आयोग के आंकड़ों के मुताबिक चीन के लगभग 80 फीसदी किशोर इस दृष्टिदोष से पीड़ित हैं. यानी हर 5 में 4 किशोर की दूर की नजर कमजोर है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि चीन के 60 करोड़ लोग मायोपिया से पीड़ित हैं  और देश के सेकेंडरी स्कूल के 70 फीसदी से अधिक विद्यार्थी भी इस दृष्टिदोष से पीड़ित हैं.

पाकिस्तानी पत्रकार गुल बुखारी को घर तक छोड़ कर गए किडनैपर्स

पेकिंग यूनियन मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में विशेषज्ञ लांग क्विन ने ग्लोबल टाइम्स को बताया, ‘‘चीन के 13 से 19 वर्ष आयुवर्ग के 60 से 80 फीसदी युवा मायोपिक हैं,  कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में यह आंकड़ा लगभग 90 फीसदी है.’’  चीन में कल 23 वां राष्ट्रीय साइट डे मनाया जाएगा.  वर्ष 2016 से इस सालाना कार्यक्रम की थीम किशोरों में मायोपिया है.