अमित शाह की पूर्व आर्मी चीफ दलबीर सुहाग से भेंट पर हरियाणा में हलचल

चंडीगढ़। पूर्व सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग की भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात पर हरियाणा की राजनीति में हलचल मच गई है। दाेनों की इस मुलाकात को महत्‍वपूर्ण घटनाक्रम के तौर पर देखा जा रहा है। जनरल सुहाग मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले के रहने वाले हैैं। इस मुलाकात के बाद सुहाग के भाजपा से जुड़ने की अटकलबाजी लगाई जाने लगी है। सुहाग 31 जुलाई 2014 से 31 दिसंबर 2016 तक भारतीय सेना के प्रमुख रहे।अमित शाह की पूर्व आर्मी चीफ दलबीर सुहाग से भेंट पर हरियाणा में हलचल

चर्चाओं का बाजार गर्म- जनरल सुहाग को रोहतक से चुनाव लड़ने की पेशकश दे सकती है भाजपा

जनरल दलबीर सुहाग की पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से भी मित्रता है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई मुलाकात के बाद अटकलें लगाई जा रही हैं कि जनरल सुहाग को 2019 के चुनाव में रोहतक संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की पेशकश दी जा सकती है। रोहतक पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा का गढ़ माना जाता है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को बुद्धिजीवी संपर्क अभियान ‘समर्थन के लिए संपर्क’ के तहत जनरल सुहाग तथा संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप के साथ विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इस अभियान के तहत पार्टी केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी जा रही है। मुलाकात के दौरान अमित शाह ने सरकार की उपलब्धियों के बारे में कुछ बुकलेट भी जनरल सुहाग और उनकी पत्‍नी नमिता सुहाग को दिया। उन्‍होंने सुभाष कश्‍यप को भी ये बुकलेट दिए।

इसके साथ ही हरियाणा भाजपा ने भी पूरे राज्य में बुद्धिजीवियों के साथ संपर्क स्थापित करने का खाका तैयार कर लिया है। मुख्यमंत्री, मंत्री, सांसद, विधायक, बोर्ड एवं निगमों के चेयरमैन तथा भाजपा नेता लगातार फील्ड में जाएंगे और मोदी व मनोहर सरकार के अंत्योदय के मिशन पर बुद्धिजीवियों के साथ चर्चा करेंगे।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के अनुसार, पूरे देश में तकरीबन चार हजार पदाधिकारी बुद्धिजीवियों के साथ संपर्क अभियान का हिस्सा बनेंगे। भाजपा के प्रांतीय महामंत्री एडवोकेट वेदपाल ने बताया कि मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष पिछले दिनों गुरुग्राम में बुद्धिजीवियों से चर्चा कर चुके हैैं। यह संपर्क अभियान 11 जून तक चलेगा। इसके तहत लाभार्थी सम्मेलन, समरसता संपर्क, स्वच्छता अभियान, मोटर साइकिल रैली, वरिष्ठ नागरिकों से संपर्क तथा बूथ संपर्क अभियान चलाए जाएंगे।

बुद्धिजीवियों से चर्चा में हर फील्ड तक पहुंचेगी सरकार

मुख्यमंत्री मनोहरलाल के मीडिया सलाहकार राजीव जैन के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर विभिन्न योजनाओं पर चर्चा के लिए संगठन व सरकार के लोग बुद्धिजीवियों के बीच जाएंगे। इनमें सर्वोच्च एवं उच्च न्यायालयों के सेवानिवृत न्यायाधीश, सेना व प्रशासन के रिटायर्ड अधिकारी, साहित्य, कला, सिनेमा, लेखन एवं संगीत की हस्तियां, खेल संघों से जुड़े पदाधिकारी, व्यापारी, किसान, उद्योगपति व व्यवसायिक लोग शामिल हैैं, जिनके साथ चर्चा होगी। 25-25 प्रबुद्धजनों से संपर्क करने का खाका तैयार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मध्यप्रदेश चुनाव : कल भाजपा आयोजित करेगी ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’, PM मोदी समेत कई बड़े नेता होंगे शामिल

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव तेजी से नजदीक आ