अमर सिंह ने अखिलेश को घटिया और बेहूदा बताते हुए पूछी ये बात

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पूर्व मुख्यमंत्रियों से सरकारी आवास खाली कराने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला थम नहीं रहा है। सोमवार को राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर बंगला छोडऩे के बाद उसमें तोडफ़ोड़ कराने को लेकर निशाना साधा। अमर सिंह ने ट्विटर पर वीडियो जारी कर अखिलेश को घटिया और बेहूदा आदमी करार दिया। कहा कि यदि अखिलेश ने अपने धन से बंगला बनवाया तो वह बताएं कि इतना पैसा कैसे कमाया और इसका उन्होंने टैक्स दिया कि नहीं।अमर सिंह ने अखिलेश को घटिया और बेहूदा बताते हुए पूछी ये बात

उन्होंने कहा कि अखिलेश को यह जवाब देना चाहिए कि बंगले में लगे सौ-सौ एसी, इटालियन टाइल्स और स्विमिंग पूल उनके खर्च पर बना था या फिर राजस्व विभाग के बजट से। अमर सिंह ने सवाल किया कि आप समाजवादी हैं, पूंजीवादी हैं या फिर अवसरवादी या कथित दुष्कर्मी व अवैध खनन से धन कमाने वाले गायत्री प्रसाद प्रजापति के सहयोग से अपने जीवन को बेहतर बनाने वाले व्यक्ति हैं। अमर सिंह ने कहा कि अगर यह सब आपके पैसे से था तो जनता को हिसाब दीजिए कि यह पैसा आपने कैसे कमाया। अगर यह सब सरकार का था तो दुरुपयोग करने का आपको क्या अधिकार है।

बंगलों की जांच जारी 

पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए बंगलों की जांच व सामान आदि का मिलान किया जा रहा है। एक दो दिन में कार्रवाई पूरी होने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला ने बताया कि नुकसान के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने नारायण दत्त तिवारी द्वारा बंगला खाली करने के सवाल पर कहा कि इसको लेकर तिवारी के परिवारीजन से संपर्क साधा जा रहा है।

…तो बना रहेगा कांशीराम यादगार स्थल

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा खाली किए गए बंगले को कांशीराम यादगार स्थल बनाने पर विचार हो रहा है। राज्य संपत्ति विभाग बंगला नंबर 13-ए मॉल एवेन्यू को दो हिस्सों में विभक्त कर नया स्वरूप देने की कार्ययोजना तैयार कर रहा है।इससे बंगले में आवासीय हिस्से व कांशीराम यादगार स्थल की अलग-अलग पहचान होगी। उल्लेखनीय है कि गत दो जून को मायावती ने 13-ए मॉल एवेन्यू का अपना सरकारी बंगला खाली करने से पूर्व कांशीराम यादगार स्थल बनाने से संबंधित कागजात सौंपते हुए यादगार स्थल बनाए रखने का आग्रह किया था। 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा- राम मंदिर के लिए कानून लाए सरकार

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पिछले दिनों में अपनी