लादेन की मौत की खबर के बाद कुछ ऐसा था जरदारी का हाल

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष आसिफ अली जरदारी को खुद फोन कर अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन की मौत की खबर दी थी. व्हाइट हाउस में ओबामा के करीबी सहयोगी रहे बेन रोड्स ने अपनी किताब में यह जानकारी देते हुए बताया कि ओबामा ने जरदारी को जब यह बताया तो उधर से उन्होंने कहा कि यह तो ‘खुशखबरी’ है.लादेन की मौत की खबर के बाद कुछ ऐसा था जरदारी का हाल

रोड्स ने व्हाइट हाउस में अपने दिनों को याद करते हुए ‘द वर्ल्ड एज़ इट इज़: ए मेमोइर ऑफ द ओबामा व्हाइट हाउस’ नाम से किताब लिखी है. इसमें उन्होंने 2 मई, 2011 को ओबामा और जरदारी के बीच बातचीत का जिक्र करते हुए लिखा है, ‘जरदारी ने ओबामा से कहा- इसके जो भी नतीजे हों, लेकिन यह अच्छी खबर है. ईश्वर आपके और अमेरिकी लोगों का साथ दे.’

जरदारी की पत्नी और प्रतिष्ठित नेता बेनजीर भुट्टो की चरमपंथियों ने 27 दिसंबर 2007 को हत्या कर दी थी, जिसके बाद ही पाकिस्तान की राजनीति में मुख्य भूमिका में आए थे. बेन रोड्स ने बताया कि जरदारी को खबर देने के बाद ही ओबामा ने राष्ट्र को संबोधित किया और अमेरीकियों को ओसामा बिन लादेन के मारे जाने की खबर दी थी.

बता दें कि अमेरिका के न्यूयॉर्क में 9/11 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले का मास्टरमाइंड अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन इस्लामाबाद से सटे एबटाबाद में छुपा हुआ था. हालांकि अमेरिकी अधिकारियों को उसकी खबर मिल गई और उसके सील कमांडोज़ ने 2 मई 2011 की आधी रात को हुए बेहद ही गोपणीय हमले में उसे मार गिराया. वहीं रोड्स ने बताया कि जब राष्ट्रीय सुरक्षा टीम पाकिस्तानी सीमा में घुसकर ओसामा को मारने पर बहस कर रही थी, तब उपराष्ट्रपति जो बिडेन इसे लेकर तैयार नहीं थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी