मुशर्रफ को बड़ा झटका, पाकिस्तान में चुनाव लड़ने पर लगी रोक

पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय ने अदालत में पेश नहीं होने के बाद पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ को चुनाव लड़ने के लिए दी गई सशर्त अनुमति आज वापस ले ली है. यानी अब उनके पाकिस्तान में चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई है. 

अदालत ने पिछले सप्ताह उन्हें 25 जुलाई को प्रस्तावित आम चुनाव लड़ने की अनुमति दी थी, जिसके बाद उन्होंने उत्तरी चित्राल जिले से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था.

उच्चतम न्यायालय ने हालांकि मुशर्रफ को सशर्त अनुमति दी थी कि वह उनकी आजीवन अयोग्यता से जुड़े मामले में 13 जून को अदालत के समक्ष पेश होंगे.

मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार ने कल पूर्व सेना प्रमुख को अदालत में पेश नहीं होने के लिए फटकार लगाई थी, पूर्व सेना प्रमुख को आज अपराह्र दो बजे तक पेश होने के लिए कहा था. 

तानशाह “किम जोंग उन” हर जगह अपने साथ लेकर जाते हैं पर्सनल टॉयलेट, वजह जानकर हैरान रह जाएगे आप

सुनवाई के दौरान उनके वकील कमर अफजल ने अदालत को बताया कि मुशर्रफ  का लौटना निर्धारित था, लेकिन उनके लिए तुरन्त आना संभव नहीं था.

अफजल ने कहा  कि मैंने मुशर्रफ से बात की है , वह और समय चाहते हैं. वह पाकिस्तान आने की योजना बना रहे हैं, लेकिन ईद की छुट्टियों और बीमारी के कारण वह तुरंत यात्रा नहीं कर सकते हैं. 

इसके बाद मुख्य न्यायाधीश ने अनिश्चितकाल के लिए सुनवाई को स्थगित कर दिया और कहा कि अगली सुनवाई तभी होगी जब याचिकाकर्ता इसके लिए तैयार होंगे.

न्यायाधीश ने कहा ठीक है, हम अनिश्चितकाल तक अदालत की सुनवाई स्थगित करते हैं, अगली सुनवाई आपकी इच्छा होने पर रखेंगे. 

हालांकि उन्होंने मुशर्रफ को चुनाव लड़ने के लिए दी गई सशर्त अनुमति को वापस लेने के आदेश दिए.

इससे पूर्व मुशर्रफ की ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एपीएमएल) ने ट्विटर पर कहा कि उनके (मुशर्रफ) के लौटने की तैयारियां अंतिम चरण में है. 

मुशर्रफ मार्च 2016 से दुबई में रह रहे हैं, उनके खिलाफ पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय में कई मामले लंबित हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पिछले साल 50 हजार से ज्‍यादा भारतीय बन गए ‘अमेरिकी’, क्‍योंकि…

अमेरिका ने 50,000 से ज्यादा भारतीयों को 2017 में