64 साल बाद स्विट्जरलैंड के पास इतिहास रचने का ये खास मौका, इन चुनौतियों का करना होगा सामना

- in खेल
स्विट्जरलैंड की टीम मंगलवार को सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में जब स्वीडन के खिलाफ अंतिम-16 का मुकाबला खेलने उतरेगी तो उसकी कोशिश 64 साल बाद इतिहास रचते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने की होगी। बता दें कि स्विट्जरलैंड अंतिम बार 1954 विश्व कप में क्वार्टर फाइनल में पहुंचा था। वहीं स्वीडन की टीम अंतिम बार 1994 में क्वार्टरफाइनल तक पहुंची थी, लिहाजा वह भी कोई मौका नहीं गंवाना चाहेगी।64 साल बाद स्विट्जरलैंड के पास इतिहास रचने का ये खास मौका, इन चुनौतियों का करना होगा सामना

स्वीडन की टीम का पलड़ा भारी नजर आ रहा है क्योंकि उसका डिफेंस बेहद मजबूत है, लेकिन मैक्सिको के खिलाफ कोच ने अटैकिंग रणनीति अपनाई जो कारगर साबित हुई। अगर स्वीडन अपने फॉर्म को बरकरार रखने में कामयाब रहा तो उसे स्विट्जरलैंड को मात देने में ज्यादा मुश्किल नहीं होगी। 

स्विट्जरलैंड के लिए अगले दौर में जाने की राह बेहद मुश्किल है। उसे इतिहास बदलना है तो ग्रुप दौर के खेल से बेहतर खेल दिखाना होगा क्योंकि स्वीडन हर मामले में उससे बेहतर है। स्विट्जरलैंड ने ग्रुप दौर में ब्राजील और कोस्टा रिका के साथ दो ड्रॉ मैच खेले थे जबकि सर्बिया के खिलाफ ही वह जीत हासिल कर पाई थी। ऐसे में टीम के स्ट्राइकरों पर काफी दारोमदार रहेगा क्योंकि बिना गोल किए अंतिम-आठ में जाना असंभव है।

स्वीडन ने ग्रुप दौर में अच्छा प्रदर्शन किया था। उसे सिर्फ जर्मनी के हाथों ही हार का सामना करना पड़ा। उसने अपने आखिरी मैच में मेक्सिको को 3-0 से मात दी थी। उसके लिए यह चिंता तब और बढ़ गई जब डिफेंडर फाबियान स्कार और कप्तान स्टीफन लेस्टिस्टेनर के बिना उतरना होगा। स्विट्जरलैंड के लिए यह मैच मुश्किलों से भरा रहने वाला है और स्वीडन की कोशिश इस मौके का फायदा उठाने की होगी।

खास बातें 

– 05 बार स्वीडन की टीम विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में सफल रही है

– 1994 में स्वीडन आखिरी बार विश्व कप में अंतिम-16 से आगे बढ़ा था जहां टीम तीसरे स्थान पर रही थी

– 03 बार स्विट्जरलैंड की टीम अंतिम-16 के दौर से आगे नहीं बढ़ पाई है। 1994, 2006 और 2014 में टीम प्री-क्वार्टर फाइनल में खेलकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी

– 1954 के सत्र में स्विट्जरलैंड आखिरी बार क्वार्टर फाइनल में पहुंचा था

– 50वां अपना विश्व कप का मैच खेलने उतरेगी स्वीडन की टीम। इस टूर्नामेंट में 50 मैच खेलनी वाली स्वीडन दुनिया की 11वीं और यूरोप की सातवीं टीम बनी। 

– 1954 में अंतिम बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी स्विट्जरलैंड की टीम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इलाहाबाद की टीम ने जीती ओवरआल चैंपियनशिप ट्राफी

52वीं यूपी स्टेट जूनियर (अंडर-14 व अंडर-16) एथलेटिक्स