250 किलो के अपने बेटे का मां 20 साल से ऐसे कर रही देखभाल, तस्वीरे देख आपकी आंखे भर जाएगी

- in ज़रा-हटके

ये कहानी एक ऐसी मां की है, जिसने अपनी जिंदगी के दो दशक गंभीर बीमारियों से जूझते बेटों की परवरिश में बिता दी। उनके दोनों जुड़वा बेटे ऑटिज्म और सेरेब्रल पाल्सी से जूझ रहे हैं।

वो अपने हर छोटे-बड़े काम के लिए पूरी तरह से अपनी मां पर निर्भर हैं। ऐसे हालात में अपनी अच्छी-खासी नौकरी छोड़कर इस महिला ने अपने दोनों बच्चों के केयरटेकर की जिम्मेदारी संभालने का जिम्मा लिया। 50 साल की मा झिकिउ ने करीब 24 साल पहले अपने जुड़वा बेटों को जन्म दिया। ये प्री-मैच्योर थे और गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे।  मां बनते ही मा की जिंदगी ही पूरी तरह से बदल गई। बेटों की बीमारी की खबर से उसके हसबैंड डिप्रेशन में चले गए और दोनों का तलाक हो गया। 

Omg: सलामन खान ने इस अभिनेत्री को सरेआम सबके सामने जड़ा तमाचा, बॉलीवुड में चारों तरफ हडकंप

 घर के हालात ऐसे बनते चले गए कि मा को अपनी अच्छी-खासी नौकरी छोड़नी पड़ गई। वो अपने पूरी तरह से डिपेन्डेंट बेटों की केयरर बन गईं। उनके बेटे सेरेब्रल पाल्सी और ऑटिज्म जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं। इसमें इंसान के शरीर का आकार अजीबोगरीब तरीके से हो जाता है।  ऐसे बच्चे शरीर से इतने बेडौल हो जाते हैं कि उनके लिए खड़ा होना और अपना काम करना भी मुश्किल हो जाता है। 

 

मा के बड़े बेटे हांगुइन का वजन 250 किलो है। वो अपने बिस्टर से हिल भी नहीं सकता और न ही किसी से बातचीत कर सकता है। वो और उनके बेटे लियोनिंग प्रोविन्स की शान्यांग सिटी में रहते हैं। तमाम हेल्थ प्राब्लम के बावजूद मा अपने बेटे को हर तरह से सपोर्ट करती हैं। छोटा बेटा युआनजुन बेहतरीन सिंगर है और देशभर में कॉम्पिटीशन में हिस्सा ले चुका है। इटैलियन और रशियन क्लासिकल पीस गाने के लिए उसे ढेरों अवॉर्ड मिल चुके हैं।

मा ने बताया कि बड़ा बेटा सेरेब्रल पाल्सी का सबसे सीवियर केस है। वो अपनी जगह से हिल भी नहीं सकता। पर छोटा बेटा युआनजुन अपना ख्याल रख सकता है और वो मेरी भी मदद करता है। दोनों बेटे बहुत खूबसूरत है और मुझे किसी चीज का पछतावा नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बच्चे को खाने में दिया सलाद तो बुला ली पुलिस, उसके बाद…

अक्सर ऐसा होता है कि बच्चों को खाने