तुलसी-अदरक की चाय से 100 गुना ज्यादा टेस्टी होती हैं ये ‘तंदूरी चाय’, जानें इस चाय की खूबियां

- in जीवनशैली

वैसे तो भारत में खाने-पीने की बहुत सी चीज़े हैं. यहाँ जितने राज्य है वहां पर अपना अलग-अलग पकवान होता है,लेकिन देश के अलावा अगर विदेशों में भारत की कोई भी चीज़ सबसे ज्यादा मशहूर है तो वो है चाय. चाय एक ऐसी चीज़ है जो आपको भारत के हर शहर,गांव, गली मोहल्ले और घरों में मिल जाएगी. जब भी हमारे घर में कोई मेहमान आता है तो उसको पानी पिलाने के बाद चाय पिलाई जाती है. वहीँ सुबह-सुबह उठने के बाद कुछ लोगों के लिए चाय पीना बहुत ज्यादा जरुरी होता है. सुबह को छोड़कर कुछ लोगों को दिन, शाम और रात को चाय पीना भी बहुत ज्यादा पसंद होता है.  ये कहना गलत नहीं होगा कि भारत के लोगों के राग-राग में चाय बसी हुई है.

कई लोग सुबह की शुरुआत करते है चाय से 

वैसे तो हर किसी के घर में चाय बनाने का तरीका बहुत ज्यादा अलग होता है. कुछ लोग चाय में अदरक डालते है, वहीँ अदरक, तुलसी और काली मिर्च डालकर चाय को बहुत स्वादिष्ट तरीके से बनाते है. कुछ  लोग चाय को और भी ज्यादा टेस्टी बनाने के लिए चाय में एक खास तरह का मसाला भी डालते है, लेकिन आज हम यहाँ एक ऐसी चाय के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसके बारे में आपने पहले कभी बिल्कुल भी नहीं सुना होगा ना कभी ये चाय पी होगी.

बालों को कलर कराने से पहले जान लें ये 10 बातें, दोबारा नहीं करेंगे ये गलती

ये है नई तरह की चाय 

हम यहाँ जिस चाय की बात कर रहे है वो है ”तंदूरी चाय”. आपको इस चाय का नाम सुनकर जरूर हंसी आई होगी, लेकिन इस चाय का स्वाद इतना शानदार है की आप अगर इस चाय को एक बार पी लेंगे तो आपका मन इस चाय पीने का बार-बार करेगा. आपको ये नाम थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन ऐसी चाय सच में मिलती है. बता दें कि इस चाय की खोज पुणे में रह रहे 2 लड़कों ने की है और अभी आपको सिर्फ ये चाय पुणे के खराडी इलाके में पीने के लिए ही मिल सकती है. ये दोनों लड़के पुणे में ”चाय ला” नाम से एक कैफ़े चलाते है. चाय ला नाम के इस कैफ़े की खूबी ये   ‘तंदूरी चाय’ हैं.

 इन 2 लोगों ने की है तंदूरी चाय की खोज 

जिन 2 लोगों ने इस तंदूरी चाय की खोज की है उनका नाम अमोल और प्रमोद है. इनको इस चाय की खोज करने का ख्याल गांव में रहने के दौरान आया. एक बार ये दोनों ठण्ड के मौसम में गांव में गए हुए थे तब इनका मन चाय पीना को किया. ऐसे में प्रमोद और अमोल ने एक मटका मिट्टी के चूल्हे पर रख दिया और उसमें ही चाय बनाई. बस उसी दिन से इन दोनों को ये चाय बहुत पसंद आई.

इस तरह बनाई जाती है ”तंदूरी चाय” 

इस तंदूरी चाय को तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले एक तंदूर की जरूरत होती है. जिसके बाद इस बड़े से तंदूर के अंदर एक बहुत छोटे से मटके को रखकर उसमें चाय की पत्तियां,चीनी और दूध डालकर चाय बनाई जाती  है. इस चाय को साधारण कप में ना परोसकर मिट्टी के किसी बर्तन या कुल्हड़ में परोसा जाता है.

तंदूरी चाय 

पुणे में बढ़ रही है ”तंदूरी चाय” की डिमांड 

आपको जानकर आश्चर्य होगा की इस चाय की डिमांड पुणे में दिन बा दिन बढ़ती ही जा रही है. पुणे में जो भी लोग दूसरे राज्यों से घूमने आते है वो इस कैफ़े में तंदूरी चाय पीने के लिए जरूर पहुँचते हैं. जिसके बाद वो लोग अपने राज्यों में वापस जाकर इस तंदूरी चाय की खूब तारीफ करते है जिसकी वजह से ये चाय अब बहुत ज्यादा फेमस हो चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ब्यूटी टिप्स: अब रात भर में पाएं गोरी और चमकदार त्वचा, अपनाएं ये तरीके

काला रंग किसी लड़की की खूबसूरती पर बहुत