हम चक्रवात निवार के मद्देनजर तमिलनाडु और पुडुचेरी की स्थिति पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं : गृह मंत्री अमित शाह

चक्रवाती तूफान निवार तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से गुजरता हुआ आगे निकल चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक टकराने के बाद चक्रवाती तूफान अब पहले की तरह खतरनाक नहीं रहा लेकिन तेज हवा के साथ बारिश अभी जारी है। पुडुचेरी और तमिलनाडु कराइकल,नागापट्टनम, देवनमपट्टिनम और चेन्नई में बुधवार से ही बारिश हो रही है।  बारिश की वजह से अधिकतर इलाकों में  जलभराव है।

गृह मंत्री शाह ने कहा, हम चक्रवात निवार के मद्देनजर तमिलनाडु और पुडुचेरी की स्थिति पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं। वहीं स्थिति का जायजा लेने के लिए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने चक्रवाती तूफान निवार से प्रभावित क्षेत्र कुड्डलोर के देवनमपट्टिनम का जायजा लिया और वे वहां जाकर लोगों का हाल-समाचार जाना।

मौसम विभाग ने बताया है कि तटीय इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश जारी रहेगी। मौसम विभाग ने बताया है कि बेहद भीषण चक्रवाती तूफान निवार कमजोर होकर भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है। 

चेन्नई हवाई अड्डे को सुबह नौ बजे तक बंद रखा गया है। पहले इसे बुधवार सुबह सात बजे से लेकर गुरुवार सुबह सात बजे तक बंद करने का एलान किया गया था, लेकिन बारिश के मद्देनजर इसे दो घंटे और बढ़ा दिया गया है। दूसरी तरफ, भारी बारिश के चलते चेन्नई के कई इलाकों में जलजमाव हो गया है।  

वहीं तमिलनाडु ने गुरुवार को भी छुट्टी का एलान किया और दक्षिणी रेलवे ने सात विशेष ट्रेनों को रद्द कर दिया। मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी पर दक्षिणपश्चिमी क्षेत्र में कम दबाव की स्थिति से उठे चक्रवात के बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप लेते हुए बृहस्पतिवार तड़के तमिलनाडु व पुड्डूचेरी के मल्लापुरम और कराईकाल तटों से गुजरेगा।

एनडीआरएफ ने तूफान को लेकर मुस्तैदी बढ़ाते हुए बुधवार को तमिलनाडु, पुड्डुचेरी व आंध्र प्रदेश के तटों पर 50 टीमों को मोर्चे पर लगाया है। इसमें 30 टीमें कुड्डालोर, विल्लूपुरम, चेन्नई, चेंगालपट्टू, मयिलादुथुरई और नागापट्टिनम के तटीय इलाकों से लोगों को निकालने में जुटी हैं।

वहीं 20 टीमों को विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश), कटक (ओडिशा) और त्रिशुर (केरल) में स्टैंडबाय पर रखा गया है। मौसम विभाग के मुताबिक तूफान के दस्तक देते वक्त 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।

मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुड्डुचेरी के तटीय इलाकों में बुधवार से हो रही भारी बारिश के बृहस्पतिवार को भी जारी रहने का अनुमान है। इस बीच चेंबरमबक्कम झील से  पानी छोड़े जाने के कारण  

तमिलनाडु के सीएम के पलानीस्वामी ने 13 जिलों में बृहस्पतिवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है। इन जिलों में चेन्नई, वेल्लोर, कुड्डालोर, विल्लूपुरम, नागापट्टिनम, तिरुवरूर, चेंगेलपेट और कांचीपूरम शामिल हं।

पुड्डुचेरी के सीमए वी नारायणसामी ने बुधवार को तटीय इलाकों का दौरा किया और तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कहा, हम तूफान से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। केंद्र शासित राज्य के तटीय इलाकों में धारा 144 लागू है। पुलिस तैनात है और समुद्र के पास लोगों की आवाजाही पूरी तरह प्रतिबंधित है।

वहीं  संकट में फंसे लोगों की मदद और उनके परिजनों की जानकारी के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं और 1070 व 1077 हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। पुड्डुचेरी में 200 राहत शिविर भी लगाए गए हैं जहां तटीय इलाकों से लाकर लोगों को रखा गया है।

चक्रवाती तूफान निवार के मद्देनजर तमिलनाडु व पुड्डुचेरी में बृहस्पतिवार को होने वाली संयुक्त सीएसआईआर-यूजीसी नेट 2020 की परीक्षा रद्द कर दी गई है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की वरिष्ठ निदेशक डॉ. साधना पराशर की ओर से बुधवार को जारी सूचना के मुताबिक परीक्षा की अगली तारीख की घोषणा एनटीए की वेबसाइट पर जल्द की जाएगी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button