कांग्रेस के नेताओं ने तुरंत मौका लपकते हुए उनके बयान पर ट्वीट करने शुरू कर दिए. प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने टीवी चैनल पर चलाए जा रहे चौहान के बयान को स्क्रीन के साथ ट्वीट किया, ”क्या मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को हटाया जा रहा है या वे यह सच स्वीकार कर चुके हैं कि अबकी बार – कांग्रेस सरकार.”

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट किया, ”अपने कर्मों से अब मुख्यमंत्री जी खुद एहसास करने लगे है कि अब मैं नही कोई और मुख्यमंत्री होगा…. यह सच्चाई स्वीकार करने में इतना समय क्यों लगा मुख्यमंत्री जी….” अटकलों की बीच बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने स्थिति स्पष्ट करते हुए ट्वीट किया, ”मध्यप्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर चल रही सभी खबरें पूर्णतः असत्य हैं, और अफवाह मात्र हैं… प्रदेश में आगामी चुनाव, माननीय शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में ही लड़े जाएंगे.”

प्रदेश में आम लोगों की जीवन में सकारात्मकता और आनंद लाने के लिए प्रदेश में साल 2016 में आनंद विभाग का गठन किया गया था.विभाग ने प्रशासन अकादमी में अध्यात्मिक गुरु स्वामी सुखबोधानंद जी का व्याख्यान आयोजित किया था. इसमें मुख्यमंत्री चौहान शामिल हुए थे.