सत्तू का शरबत है कई बीमारियों का रामबाण इलाज

- in हेल्थ

नमस्कार दोस्तों आप सभी लोगों का हमारे लेख में स्वागत है दोस्तों आप सभी लोग सत्तू के बारे में तो जानते ही होंगे गर्मियों के मौसम में सत्तू हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है क्योंकि सत्तू हमारे शरीर को ठंडा करता है और लू से बचाता है चने से बने हुए सत्तू को बहुत से लोग गूंथकर आचार और सिरके के साथ खाना पसंद करते हैं तो बहुत से लोग ऐसे हैं जो चने के सत्तू को पानी में घोलकर शरबत बनाकर पीना पसंद करते हैं वैसे देखा जाए तो सत्तू में बहुत सारे गुण मौजूद होते हैं इसके अंदर बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं इसलिए यह हमारे पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होता है इसके अतिरिक्त सत्तू में मौजूद तत्व के कारण है यह बहुत से प्रकार की बीमारियों को भी बड़ी सरलता से ठीक करने में मदद करता है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से सत्तू का शरबत पीने से क्या क्या फायदे मिलते हैं इसकी जानकारी देने वाले हैं।सत्तू का शरबत है कई बीमारियों का रामबाण इलाज

आइए जानते हैं सत्तू का शरबत पीने से मिलने वाले लाभ के बारे में

अपच एसिडिटी और कब्ज करें दूरजैसा कि आप लोग जानते ही होंगे कि सत्तू हमारे पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है यदि आप रोजाना नाश्ते में चने के सत्तू का शरबत का सेवन करते हैं तो इससे आपको कभी भी अपच एसिडिटी और कब्ज की समस्या नहीं आएगी सत्तू में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इसमें विटामिन बी कांपलेक्स भी होता है जिससे हमारे पेट की गर्मी शांत होती है यदि आपके मुंह में छाले की परेशानी है तो सत्तू का शरबत पीना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद रहेगा।

डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंदजिन व्यक्तियों को डायबिटीज की बीमारी हैं उन व्यक्तियों के लिए सत्तू का शरबत पीना बहुत ही फायदेमंद साबित होता है क्योंकि सत्तू के शरबत का सेवन करने से ब्लड शुगर कम होता है और शरीर में इंसुलिन का लेवल कंट्रोल रहता है जिन व्यक्तियों को डायबिटीज की समस्या है वह सत्तू में नमक और जीरा मिलाकर इसको स्वादिष्ट बना सकते हैं परंतु डायबिटीज के मरीज सत्तू के शरबत में चीनी ना मिलाएं।

हिमोग्लोबिन की कमी होगी दूरअगर किसी व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन या आयरन की मात्रा में कमी है तो इससे व्यक्ति एनीमिया का शिकार हो सकता है चना आयरन से भरपूर होता है और चने के सत्तू के सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है जो महिलाएं गर्भवती हैं उनको आयरन की सबसे अधिक आवश्यकता होती है इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए सत्तू का शरबत बहुत ही फायदेमंद रहता है।

मोटापा कम करेंचने के सत्तू में कैलोरीज की मात्रा बहुत कम पाई जाती है चने के सत्तू के शरबत में फाइबर भी होता है जिसकी वजह से आपका पेट भरा हुआ लगता है और आपको काफी देर तक भूख भी नहीं लगती है इसके अतिरिक्त सत्तू बहुत ही सरलता से पच जाता है सत्तू में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाई जाती है यदि आप चने का सत्तू का सेवन करते हैं या इससे बना हुआ शरबत पीते हैं तो आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्व बड़ी ही सरलता से प्राप्त हो जाएंगे।

लू से करें बचावगर्मियों के मौसम में चने के सत्तू का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है यह हमारे पेट को ठंडा रखता है और कई तरह की बीमारियों को भी दूर करता है इससे हमारे शरीर का तापमान कंट्रोल रहता है यदि आप चने के सत्तू को पानी काला नमक और नींबू के साथ मिलाकर इसका सेवन करते हैं तो यह आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत ही फायदेमंद रहता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

फैशन में है खूबसूरत दांतो का चलन

किशोर हों या वयस्क, किसी भी उम्र के