वरुण गांधी के बगावती तेवर, इशारों-इशारों में किया पीएम मोदी पर वार

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक स्कूल में कार्यक्रम के दौरान वह इशारों-इशारों में बहुत कुछ बोल गए. उनके भाषण से ऐसा लग रहा था कि वह भाजपा के सांसद नहीं हैं.वरुण गांधी के बगावती तेवर, इशारों-इशारों में किया पीएम मोदी पर वार

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से 36 वर्षीय भाजपा सांसद ने ‘विचार नये भारत का’ विषय पर बोलते हुए इशारों ही इशारों में मुकेश अंबानी, रोहित वेमुला और किसानों की आत्महत्या के मुद्दों पर बहुत कुछ बोला.

यह भी पढ़े : अन्ना हजारे 10 अप्रैल को चंपारण में शुरू करेंगे तिरंगा यात्रा

उन्होंने देश में आर्थिक असमानता और कर्ज वसूली में भेदभाव को लेकर कहा, ‘‘देश के ज्यादातर किसान 40-50 हजार रुपये का कर्ज न चुका पाने के चलते जान दे देते हैं. पिछले दो साल में साढ़े सात हजार किसानों ने आत्महत्या कर ली. लेकिन विजय माल्या पर सैंकड़ों करोड़ रुपये का कर्ज बकाया होने के बावजूद वह एक नोटिस मिलने पर देश छोड़ कर भाग गया.’’

उन्होंने देश के बड़े औद्योगिक घरानों पर बकाया कर्ज माफ करने पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा, ‘‘अमीरों को रियायत दी जा रही है, जबकि गरीबों की थोड़ी सी संपत्ति को भी निचोड़ने का प्रयास किया जा रहा है.’’

यह भी पढ़े : उ. प्र. चुनाव 2017: राहुल-अखिलेश के मुस्लिम-यादव समीकरण की पीएम नरेंद्र मोदी ने निकाली काट!

मुकेश अंबानी पर हमला करते हुए वरुण गांधी ने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी मुंबई है और इसी शहर में कोई 4000 करोड़ के मकान में रहता है. इतनी ज्यादा असमानता दुनिया में शायद कहीं और नहीं.

भाजपा सांसद ने यह भी कहा कि जीडीपी विकास दर देश की तरक्की का वास्तविक पैमाना नहीं है और इस सूचकांक की वृद्धि पर फूल के कुप्पा होने की जरूरत नहीं है क्योंकि इससे स्वास्थ्य, अशिक्षा और महिलाओं की बेगारी की बुनियादी समस्याओं का हल नहीं मिलता है. 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हैदराबाद विश्वविद्यालय के पीएचडी विद्यार्थी रोहित वेमुला का सुसाइड नोट पढ़कर उन्हें रोना आ गया था.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button