लहुसन की कच्ची कलियां लकवे मरीज के लिए हो सकता है रामबाण

- in हेल्थ
शरीर के जिस अंग पर लकवा या पैरालाइसिस का अटैक पड़ता है वह कुछ भी महसूस करने की क्षमता नष्ट कर देता है। चेहरे पर लकवा होने पर मुंह आधा टेढ़ा हो जाता है और बोलने पर आवाज नहीं निकलती या मरीज तुतलाने लगता है। ये किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन ज्यादातर यह उम्रदराज लोगों में देखने को मिलता है। इसे ठीक होने में काफी समय लग सकता है और अगर समय रहते इसका इलाज नहीं किया जाए तो यह लाइलाज बीमारी भी बन सकती है।
 

ध्यान रखे: कम नींद आने पर पड़ता है गुर्दे पर असर…

लहुसन की कच्ची कलियां लकवे मरीज के लिए हो सकता है रामबाण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अवसाद, मधुमेह से डिमेंशिया का खतरा

एक नए अध्ययन से यह खुलासा हुआ है