रुपाणी सरकार के खिलाफ BJP विधायकों ने खोला मोर्चा

- in राजनीति
क्या गुजरात बीजेपी में सबकुछ ठीक है? ये ऐसा सवाल है जिसे बीजेपी आलाकमान लोकसभा चुनाव से ऐन पहले कतई नहीं सुनना चाहेगा। लेकिन पिछले कुछ महीनों से वडोदरा शहर ग्राम्य के विधायक अफसरों के कामकाज को लेकर काफी खिन्न नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि वडोदरा शहर-ग्राम्य के तीन विधायक केतन इनामदार (सावली), मधु श्रीवास्तव (वाघोडिया) और योगेश पटेल (मांजलपुर) ने नाराजगी व्यक्त की है। इन तीनों विधायकों की यह नाराजगी तब सामने आई है जब मुख्यमंत्री विजय रूपाणी एक प्रतिनिधिमंडल समेत छह दिन के लिए जल तकनीक और नवाचार का जायजा लेने के साथ इरिगेशन तकनीक को जानने के लिए इजरायल दौरे पर हैं। विजय रूपाणी 1 जुलाई को वापस लौटेंगे।
 रुपाणी सरकार के खिलाफ BJP विधायकों ने खोला मोर्चा
वडोदरा के तीनों विधायकों ने बीते बुधवार को वडोदरा सर्किट हाउस में एक गुप्त बैठक की। बैठक में सरकारी अधिकारियों से नाराजगी के मुद्दे को लेकर बातचीत हुई। बैठक के बाद तीनों विधायकों ने तय किया है कि इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व शीर्ष नेतृत्तव से भी अवगत कराया जाएगा।

नाराज विधायक बनाएंगे अपना गुट

सावली से विधायक केतन इनामदार ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि सरकारी अधिकारियों के कामकाज को लेकर नाराजगी के बारे में कई बार गुहार लगाई है लेकिन इसके बावजूद काम नहीं हो रहा। उन्होंने कहा कि अफसरों के कामकाज को लेकर और भी कई विधायक नाराज हैं। वे सब भी हमारे साथ जुड़ेंगे और आलाकमान के सामने यह बात उठाई जाएगी।
नितिन पटेल समेत कई नेता नाराज विधायकों को समझाने में जुटे

नाराजा विधायकों को मनाने का काम कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र चुडास्मा को सौंपा गया है। इस मामले में कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र चुडास्मा ने कहा कि नाराज विधायकों मुलाकात कर उनकी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। यह पार्टी का अंदरूनी मामला है इसे जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। नाराज विधायकों को मनाने के लिए उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल के साथ-साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी ने भी कमान संभाल रखी है। उधर गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा को भी इन नाराज विधायकों को मनाने का काम सौंपा गया है।
पहले भी दिखी है विधायकों की नाराजगी 
वडोदरा के भाजपा विधायकों की नाराजगी का यह कोई पहला किस्सा नहीं है। इससे पहले भी गत विधानसभा चुनाव के बाद सरकार में मंत्री पद नहीं मिलने से वडोदरा के विधायकों ने अपनी नाराजगी व्यक्त की थी। वडोदरा शहर ग्राम्य की 10 में से 8 सीटों पर भाजपा विधायकों की जीत के बावजूद सरकार में किसी को प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया था। नाराजगी जताने के बाद ही राजेंद्र त्रिवेदी को विधानसभा अध्यक्ष का पद दिया गया था। मधु श्रीवास्तव व योगेश पटेल वरिष्ठ विधायक रहे हैं वहीं पिछली विधानसभा में निर्दलीय विधायक के रूप में चुने गए इनामदार इस बार भाजपा से विधायक चुने गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

समान विचार-समान विकास ही प्रदेश की तरक्की का आधार: सीएम राजे

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने समान विचार-समान