मध्यप्रदेश: 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा में फेल होने पर पांच विद्यार्थियों ने की आत्महत्या

- in मध्यप्रदेश, राज्य

भोपाल: मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा में फेल होने पर प्रदेश के चार जिलों में पांच विद्यार्थियों ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली, जिनमें से तीन छात्राएं एवं दो छात्र हैं. इनके अलावा, दो अन्य विद्यार्थियों ने आत्महत्या करने की कोशिश की, जिनका इलाज चल रहा है.मध्यप्रदेश: 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा में फेल होने पर पांच विद्यार्थियों ने की आत्महत्या

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार भोपाल एवं सीहोर में दो-दो विद्यार्थियों ने खुदकुशी की, जबकि उज्जैन में एक छात्र ने अपनी जान दे दी. इनके अलावा, एक अन्य छात्रा ने छिन्दवाड़ा जिले में एवं एक ने दमोह जिले में खुदकुशी करने की कोशिश की जिसकी हालत गंभीर बनी हुई है. मरने वालों में चार 10वीं के विद्यार्थी थे और एक 12वीं का था.

भोपाल के तलैया पुलिस थाने के इंस्पेक्टर करण सिंह ने बताया, ‘‘10वीं की छात्रा भावना रायकवार (17) ने आज यहां अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.’’ उन्होंने कहा कि जैसे ही आज 10वीं का रिजल्ट घोषित हुआ, छात्रा ने इंटरनेट पर अपना रिजल्ट देखा. जब उसे पता चला कि वह तीन विषयों में फेल हो गई है, तो वह अपने किचन में गई और स्टूल पर चढ़कर एक कुंदे से दुपट्टा बांधकर फांसी लगा ली.

रिजल्ट से पहले ही कर ली आत्महत्या

सिंह ने बताया कि उसने शहर के बुधवारा इलाके के भोईपुरा में अपने घर में फांसी लगाई. भोपाल के कोहिफिजा थाना प्रभारी अनिल वाजपेई ने बताया कि 12वीं के छात्र करण पांडे ने रिजल्ट आने के कुछ समय पहले फेल होने के डर से कोहिफिजा थानांतर्गत ग्लोबल ग्रीन कालोनी में छठी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली.

वहीं, सीहोर से मिली रिपोर्ट के अनुसार सीहोर जिले के अमलाहा निवासी नेहा चौहान (17) ने कक्षा 10 वीं की परीक्षा दी थी. सोमवार को रिजल्ट घोषित होते ही जब उसने अपना परिणाम देखा तो दो विषय में सप्लीमेंट्री आई. इससे हताश होकर उसने अपने घर में फांसी का फंदा बनाया और उसके ऊपर झूल कर आत्महत्या कर ली. परिजन ने जब उसे फंदे पर लटका देखा तो जिला अस्पताल लेकर आए. जहां डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया.

इसी तरह सीहोर जिले के ही नसरुल्लागंज थाना क्षेत्र के टीकामोड़ ग्राम पंचायत में दसवीं में असफल होने पर 16 साल की छात्रा किरण सिंह ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली. उसकी अंग्रेजी और गणित में सप्लीमेंट्री आई थी. वहीं, उज्जैन में 10वीं के छात्र विनय शर्मा :16: ने पांचों विषयों में फेल होने के कारण अपने बाथरूम में फांसी का फंदा डालकर खुदकुशी कर ली.

इनके अलावा, दमोह जिले में हटा थाना के ग्राम रूसल्ली निवासी कक्षा 12 वीं की छात्रा पूजा अहिरवार :18: ने फेल हो जाने से परेशान होकर घर में जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया. उसे गंभीर हालत में स्वास्थ केन्द्र लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर अवस्था को देखते हुये उसे तुरंत ही जिला अस्पताल रिफर किया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है.

वहीं, छिंदवाड़ा जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी ने बताया कि जिले की चांदामेटा निवासी छात्रा नीति शर्मा (17) ने दसवीं कक्षा का परिणाम अच्छा नहीं आने के चलते अपने घर पर फ़ांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने वाली इन घटनाओं के संबंध में मामले दर्ज किये गये हैं और विस्तृत जांच जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पुलिस की आंख में मिर्च पावडर झोंककर कुख्यात पर चली ताबड़तोड़ गोली, हुई मौत

पूर्वी चंपारण। बेखौफ अपराधियों ने पुलिस सुरक्षा व्यवस्था को