भूखे रहने पर क्यों आता है गुस्सा? खुल गया इसका राज, ये है कारण

- in हेल्थ

वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि हमें भूख लगने के साथ ही साथ गुस्सा क्यों आने लगता है. वैज्ञानिकों ने पाया है कि ऐसा जीवविज्ञान की परस्पर क्रिया, व्यक्तित्व और आसपास के माहौल की वजह से होता है. अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ केरोलाइना की एक डॉक्टरल छात्रा जेनीफर मैकोर्माक ने बताया, “हम सभी जानते हैं कि भूखा महसूस करने से कभी-कभी हमारी भावनाएं और दुनिया को लेकर हमारे विचार भी प्रभावित होते हैं. हाल ही में ‘हैंगरी’ शब्द ऑक्सफोर्ड शब्दकोष ने स्वीकार किया है, जिसका मतलबा होता है कि भूख की वजह से गुस्सा आना.”भूखे रहने पर क्यों आता है गुस्सा? खुल गया इसका राज, ये है कारण

‘इमोशन’ जर्नल में प्रकाशित अध्ययन की मुख्य लेखक मैकोर्माक ने बताया, “ हमारे अनुसंधान का उद्देश्य भूख से जुड़ी हुई भावनात्मक स्थितियों का मनोवैज्ञानिक तरीके से अध्ययन करना है. जैसे कि कोई कैसे भूखा होने के साथ ही गुस्सा भी हो जाता है.”

उन्होंने बताया कि इस संबंध में 400 से ज्यादा लोगों पर किए गए अनुसंधान में पता चला है कि सिर्फ माहौल ही इस बात पर असर नहीं डालता है कि क्यों कोई भूखे होने से गुस्सा हो जाएगा. यह लोगों के भावनात्मक जागरुकता के स्तर से भी तय होता है. वे लोग जो इस बात के प्रति अधिक जागरूक होते हैं कि उन्हें भूख लगी है या नहीं , ऐसे लोगों में गुस्सा होने की संभावना कम होती है. 

क्रोध एक सामान्य, स्वस्थ भावना है, और हम सभी को तमाम मौकों पर गुस्सा आता है. लेकिन, जब यह नियंत्रण से बाहर है, यह आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ आपको अपनों के साथ रिश्तों को भी नुकसान पहुंचा सकता है. गुस्सा दिल के दौरे, स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर के खतरे को बढ़ा सकता है. जो भी वयक्ति गुस्से का शिकार होता है वो सामाजिक मेलजोल में भी पिछडा़ रहता है. जो लोग गुस्सा ज्यादा करते हैं उनके लिए ये कुछ टिप्स हैं जिनसे आप अपने गुस्से को काबू में रख सकते हैं- 

1-कुछ भी बोलने से पहले अपने विचारों पर ध्यान दें क्योंकि हो सकता कि आपकी बात से किसी को गुस्सा आ सकता है. 

2-अपने गुस्से के संकेतों को पहचानें – जब आप गुस्से में होते हैं तो आफके दिल की धड़कन तेज हो जाती है, और आप अधिक तेजी से सांस लेते हैं, इन चुनौतियों पर काबू पाने के लिए प्रयास करें. 

3-यदि बहुत गुस्से में हों तो 10 या उससे आगे की गिनती गिनें इससे ये फायदा होगा कि आपका गुस्सा शांत हो जाएगा या उसकी तीव्रता कम हो जाएगी. 

4-जब आप एक सकारात्मक गैर टकराव के रास्ते में अपने गुस्से का इजहार कर रहे होंगे तो आप दूसरों को चोट पहुंचाए बिना स्पष्ट रूप से अपनी निराशा व्यक्त करने में मददगार रहेंगे. 

5-धीरे-धीरे सांस लें और आराम करें- तीन से चार बार सांस लें और सांस छोड़ें, जब आप सांस लें फिर आप 3 तक गिनें फिर 3 सेकेंड तक सांस को होल्ड करें फिर जब सांस छोड़ें तो 3 तक गिनें ऐसा करने से आप गुस्से को मात देने में काफी हद तक कामयाब रहेंगे. 

6-रोज रात में पर्याप्त नींद लें- क्योंकि नींद पूरी ना होने का स्थिति में आप तमाम समस्यायों से ग्रसित हो सकते हैं. रात की अच्छी नींद आपके मूड को सुधार सकती है और गुस्से को कम कर सकती है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रेगनेंसी में इन बीमारियों से बचने के लिए अपनाएं ये डाइट प्लान

प्रेगनेंसी के दौरान एक महिला के शरीर में