किन्नर की टीम ने वसूले 11 करोड़ का टैक्स, इतना % दिया जायेगा कमीशन

ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन ने बकाया होल्डिंग टैक्स वसूलने का नया तरीका निकाला है. भुवनेश्वर महानगरपालिका  ने किन्नरों की एक टीम बनाई है ताकि वे डिफॉल्टर लोगों से टैक्स वसूल पाएं.

Loading...

BMC के इस काम में टीजी स्वीकृति सेल्फ हेल्प ग्रुप मदद कर रही है. ट्रांसजेंडर्स की इस टीम में कुल 10 किन्नर हैं जो बकाएदारों के पास जाकर बकाया टैक्स की वसूली कर रहे हैं. जब भी ये जाते हैं तो लोगों से कहते हैं कि टैक्स दीजिए और दुआ लीजिए.

किन्नरों की इस टीम को तीन महीने तक टैक्स वसूलने की ट्रेनिंग दी गई है. ताकि वे POS मशीन चला सकें. BMC ने इस टीम को नया यूनिफॉर्म, नई आईडी और ईंधन का पैसा भी दिया है. इनके साथ नगरपालिका का एक कर्मचारी भी रहता है.

यह भी पढ़ें: निर्भया की मां ने दोषियों की फांसी टलने से फूट-फूटकर रोई, फिर उठाया यह बड़ा कदम

BMC ने यह मुहिम इसलिए शुरू की क्योंकि किन्नरों से कोई बहस नहीं करता. उन्हें तुरंत पैसा दे देता है. अब ये स्पेशल टीम हर महीने की 5 तारीख को यह रिपोर्ट देगी कि उसने कितने रूपये की वसूली की. BMC ने कहा है कि अगर महीने भर में ये स्पेशल टीम 40 लाख रुपये की वसूली करती है तो उन्हें एक फीसदी रकम कमीशन दिया जाएगा. अगर यह 40 लाख के ऊपर लेकिन 60 लाख के अंदर रहती है तो 1.5 फीसदी कमीशन दिया जाएगा. इससे ऊपर वसूली होगी तो 2 फीसदी कमीशन दिया जाएगा.

टीजी स्वीकृति सेल्फ हेल्प ग्रुप की प्रेसीडेंट ट्रांसजेंडर मेघना साहू ने बताया कि BMC ने हमें ये मौका देकर बड़ा अच्छा किया है. इसी बहाने हम राज्य सरकार और BMC के लिए कुछ काम कर पाएंगे. BMC के एडिशनल कमिश्नर सुरथ चंद्र मलिक ने इस मुहिम के बारे में कहा कि यह अनोखा तरीका है. हमे कुल मिलाकर 11 करोड़ रुपये वसूलने हैं. हमने इस ग्रुप को साथ में जोड़ा है. ये ग्रुप हमें वसूली करके देगा तो हम इनके बेहद आभारी रहेंगे.

 

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *