ऐसे करें श्रीयंत्र के सामने आराधना, पूरी होगी मनोकामनाएं

श्री यंत्र भगवती त्रिपुर सुंदरी का विश्व विख्यात यंत्र है। इसे यंत्र राज भी कहा गया है। इस यंत्र में ब्रह्मांड की उत्पत्ति और विकास का दर्शन होता है।

यह भी पढ़े: 29 मार्च दिन बुद्धवार का पंचांग: आज इस तरह करें मां शैलपुत्री की पूजा मिलेगी कामयाबी

ऐसे करें श्रीयंत्र के सामने आराधना, पूरी होगी मनोकामनाएं

यह यंत्र व्यापारिक समस्या, आर्थिक उन्नति भौतिक सुख के लिए अचूक उपाय है। जैन शास्त्रों में भी श्रीयंत्र की प्रशंसा के गुणगान किए गए हैं।

श्रीयंत्रों में कई शक्तियों का वास होता है। जब श्रीयंत्र सिद्ध कर लें तो उसे घर की उत्तरी दीवार पर दक्षिण मुख में स्थापित करें।
 
नवरात्र में सिद्ध किए गए श्री यंत्र को व्यक्ति अपनी हर मनोकामना को पूरा करने के लिए श्री यंत्र के सामने श्री सूक्त का पाठ करें। या ‘ऊं ह्रीं श्रीं श्रीकमले कमलालये प्रसीद प्रसीद।’
 
‘श्रीं ह्रीं श्रीं ऊं महालक्ष्मै नमः’ का 27, 54 108 बार जप करें। ऐसा करने पर आपकी मनोकामना जरूर पूरी होगी।

नोट: किसी विद्वान ज्योतिषी से परामर्श करने के बाद ही श्रीयंत्र को घर में स्थापित करें।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button