उर्दू अरबी फ़ारसी विश्वविद्यालय ने संस्कृत की ओर बढ़ाये औपचारिक क़दम

लखनऊः ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फ़ारसी विश्वविद्यालय, लखनऊ में  नवस्थापित ‘‘संस्कृत विभाग’’ का पाठ्यक्रम तैयार कराने के लिए प्रथम विभागीय बोर्ड ऑफ स्टडीज़ की बैठक विश्वविद्यालय के कुलपति, प्रो0 माहरूख़्ा मिर्ज़ा की अध्यक्षता में आयोजित की गयी।

उर्दू अरबी फ़ारसी विश्वविद्यालय

बैठक में संस्कृत बोर्ड आफ स्टडीज हेतु विश्वविद्यालय के कुलपति महोदय द्वारा प्रो0 मो0 शरीफ, संस्कृत विभाग, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़ एवं प्रो0 रामसुमेर यादव, विभागाध्यक्ष, संस्कृत विभाग, लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ को सदस्य नामित किया गया है। उक्त बैठक में प्रो0 मो0 शरीफ द्वारा प्रतिभाग किया गया।

बैठक में वर्तमान में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़ एवं लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ के संस्कृत विभाग में संचालित पाठ्यक्रमों की पाठयचर्या को दृष्टिगत रखते हुए चर्चा की गई तथा निर्णय लिया गया कि उक्त विश्वविद्यालयों के पाठ्यचर्या के अनुरूप ही इस विश्वविद्यालय के संस्कृत विभाग की पाठ्यचर्या सीबीसीएस पद्यति पर तैयार की जाये।

बैठक में पाठ्यचर्या की रूप रेखा तैयार की गई तथा पाठ्यचर्या को अंतिम रूप देने के लिये एक सप्ताह के भीतर पुनः बोर्ड ऑफ स्टडीज़ की बैठक आहूत की जायेगी, ताकि आगामी शैक्षिक सत्र 2018-19 से संस्कृत विभाग के पठन पाठन का कार्य आरम्भ किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बनारस पहुंचे अब्बास अंसारी, पिता मुख्तार अंसारी की जेल में सुरक्षा को लेकर दिया बड़ा बयान

वाराणसी में मंगलवार को बसपा के मंडल कार्यकर्ता