आप के नाम के प्रथम अक्षर खोलेंगे आप के सारे राज़, इस तरह जाने बहुत कुछ

- in जीवनशैली

ज्योतिष अध्ययन का मूल आधार उसके 12 खानें यानी 12 भाव और 12 राशि हैं. हर भाव, खाना या स्थान की एक राशि होती है और हर राशि का एक स्वामी होता है. इसी के आधार पर भूत, भविष्य, वर्तमान के साथ गुण, दोषों, क्षमता, स्वास्थ्य, सफलता, आनंद, शोक इत्यादि तमाम बातों का अध्ययन किया जाता है. जन्म के आधार पर राशियों का निर्धारण होता है और राशि के अनुसार स्वभाव का.

आइये जानते है राशि के आधार पर व्यक्तित्व –

मेष :

मेष राशि वाले आकर्षक और दिखने में सुंदर होने के बावजूद स्वभाव के कुछ रूखे होते है. चरित्र से साफ-सुथरा एवं आदर्शवादी होते है. ये लोग बहुमुखी प्रतिभा के स्वामी होते हैं जिससे समाज में इनका वर्चस्व होता है एवं मान सम्मान की प्राप्ति होती है. यह लोग किसी के दबाव में कार्य नहीं करते. शीघ्र निर्णय लेते है और कार्य को ख़त्म किये बिना पीछे नहीं हटते. दूसरों के दोस्त और हमदर्द होते है.

वृष:

इस राशि के लोग स्वभाव से अधिक पारिश्रमी और बहुत अधिक वीर्यवान होते है. शांत रहना इनका स्वभाव है लेकिन क्रोध रावण बन जाते है. इनके जीवन में पारिवारिक कलह खासकर पिता-पुत्र का कलह रहता है. ऐसा जातक सरकारी कार्यों में उत्तीण होता है. पूर्वजों से विरासत में बहुत कुछ प्राप्त होता है. खाने में तामसी भोजन प्रिय होता है. किसी से बात करते हुए ये लोग स्वाभिमानी प्रतीत होते है. मानसिक रूप से सक्षम होते है. विचारों से ये सौन्दर्य प्रेमी और कला प्रिय होते हैं और कला के क्षेत्र में नाम कमाते है.

मिथुन :

इस राशि के लोग माया के प्रति अधिक भावना रखते हैं. जीवनसाथी के साथ हमेशा कलह और घरेलू कारणों से आपस में तनाव रहता है. वाहनों को, स्त्री को परखने की अद्भुत क्षमता होती है. ये लोग अपने वचनों के पक्के होते है. ये लोग ईश्वरीय ताकतों विश्वास रखते हैं. ये लोग दायरे में कार्य करते है और पूरा जीवन कार्योपरान्त फलदायक रहता है. मर्यादा पसंद होते है, धर्म में लीन रहते है. ये लोग सामाजिक और धार्मिक कार्यों में अपने को लीन रखते है.

कर्क :

ये लोग कल्पनाशील होते हैं. मानसिक रूप से अस्थिर और अहम की भावना रखते हैं. उनके हर कार्य में विघ्न पड़ता है. ये लोग होशियार होने के साथ-साथ धन और जायदाद के भी मालिक होते हैं. सजाने संवारने की कला इनमें जन्म से होती है. ये लोग मातृभक्त होते है. इन लोगों में अपने विचारों की प्रबल भावना होती है. इन लोगों का मूड बदलते देर नहीं लगती है. इनमें कल्पना शक्ति और स्मरण शक्ति बहुत तीव्र होती है.

सिंह :

इस राशि वाले लोग दिमागी रूप से आवेशी होते है. सजावट और सुन्दरता के प्रति आकर्षण को बढ़ाता देते है. ये लोग कल्पना करने और हवाई किले बनाने में कल्पना शक्ति का विकास करते है. स्वाभाविक प्रवृत्ति से ये लोग सुन्दरता के प्रति मोह रखते है. ये लोग कामुक होते है. ये लोग स्वतंत्रता की भावना से भरे हुए है. पित्त और वायु विकार से परेशान रहने वाले इन लोगो को कम भोजन करना और खूब घूमना पसंद आता है.

कन्या :

इस राशि के लोग बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षी और भावुक होते हैं. ये लोग संकोची, शर्मीले और झिझकने की वजह से दिमाग की अपेक्षा दिल से ज्यादा काम लेते हैं. स्वास्थ्य की दृष्टि से इन्हें पाचनतंत्र एवं आंतों से संबंधी बीमारियां मिलती हैं. इन्हें पेट की बीमारी और पैर के रोगों से ग्रस्त होते है. इस राशि वाल पुरुषों का शरीर स्त्रियों की भांति कोमल होता है. ये नाजुक और ललित कलाओं से प्रेम करने वाले लोग होते हैं. योग्यता के बल पर उच्च पद तक पहुंचते हैं. विपरीत परिस्थितियां भी इन्हें डिगा नहीं सकतीं और ये अपनी सूझबूझ, धैर्य, चातुर्य के कारण आगे बढ़ते रहते है.

तुला :

इस राशि के पुरुष सुंदर, आकर्षक व्यक्तित्व वाले होते हैं. इनकी आंखों में हमेशा हीरे के समान चमक व चेहरे पर प्रसन्नता झलकती है. स्वभाव सीए लोग संतुलित व्यवहार के होते है. किसी भी परिस्थिति में विचलित ना होना, दूसरों को प्रोत्साहन देना, सहारा देना इनकी आदत होती है. ये व्यक्ति कलाकार, सौंदर्य पसंद व स्नेहिल होते हैं. इन लोगों के दोस्त जल्दी ही बन जाते है. इस राशि की स्त्रियां भी मोहक व आकर्षक, स्वभाव से खुशमिजाज बुद्धि वाली होती है. ये लोग कला प्रेमी ,साजसज्जा के शौक़ीन होते है. बच्चों से बेहद लगाव रहता है.

वृश्चिक :

इस राशि के व्यक्ति उठावदार कद-काठी के होते हैं. इस राशि के लोगो को मंगल की कमजोर स्थिति में अंगों के रोग जल्दी होते हैं. ये लोग एलर्जी से भी अक्सर पीडि़त रहते हैं. ये लोग दूसरों को आकर्षित करने की अच्छी क्षमता रखते है. इस राशि के लोग बहादुर, भावुक होने के साथ-साथ कामुक होते हैं. शारीरिक गठन के साथ-साथ शारीरिक व मानसिक शक्ति प्रचूर मात्रा में होती है. इन्हें बेवकूफ बनाना और धोखा देना आसान नहीं होता है. ये लोग सही सलाह देने में विश्वास रखते हैं. दूसरों के विचारों के विरोधक अपने विचारों के पक्ष में कम बोलते हैं और आसानी से सबके साथ घुलते-मिलते नहीं हैं.

धनु :

इस राशि वाले पुरुष मध्यम कद काठी के, बाल भूरे व आंखें बड़ी-बड़ी होती हैं. ये लोग काफी खुले विचारों के होते हैं. जीवन के अर्थ को सही तरीके से समझते हैं. इनमें हमेशा दूसरों के बारे में जानने की उत्सुकता रहती है. धनु राशि वालों को रोमांच काफी पसंद होता निडर व आत्म विश्वासी होने के साथ-साथ अत्यधिक महत्वाकांक्षी और स्पष्टवादी होते हैं. स्पष्टवादिता होने के कारण दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाते हैं. इनके मित्र इनके अपने होते हैं. ये धार्मिक विचारधारा से दूर होते हैं. अपनी पढ़ाई और करियर के कारण अपने जीवन साथी और विवाहित जीवन की उपेक्षा करते हैं लेकिन घरेलू जीवन का महत्व भी समझते हैं.

मकर :

इस राशि वाले व्यक्ति स्वभाव से गंभीर व्यक्तित्व के होते है. ये लोग कम बोलने वाले, गंभीर और उच्च पदों पर आसीन व्यक्तियों है. इनको अपने उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ता है. ये लोग दिखने में सुस्त लेकिन मानसिक रूप से बहुत चुस्त होते हैं. इन्हें ट्रेवल करना पसंद होता है. गंभीर स्वभाव के कारण इन्हें मित्र बनाने में कठिनाई होती हैं. ईश्वर व भाग्य में विश्वास करते हैं. इनके वैवाहिक जीवन में परेशानियां रहती है.

कुंभ :

इस राशि के लोग बुद्धिमान होने के साथ-साथ व्यवहार कुशल होते हैं. ये लोग गंभीरता को पसंद करने वाले होते हैं एवं गंभीरता से ही कार्य करते हैं. स्वतंत्रता जन्मसिद्ध अधिकार होता हैं. प्रकृति और जानवरों से असीम प्रेम करते हैं. लोग जल्दी ही इनके मित्र बन जाते है. समाज में रूचि दिखाते हुए ये सामाजिक क्रियाकलापों में रुचि रखने वाले होते हैं. साहित्य, कला, संगीत व दान इनके शौक होते है. मित्रों से समानता का व्यवहार इनका शस्त्र होता है. इनका व्यवहार सभी को आपकी ओर आकर्षित कर लेता है.

मीन :

इस राशि के लोग मित्रपूर्ण व्यवहार के कारण समाज में अच्छे से जाने जाते है. इनका व्यवहार बहुत नियंत्रित रहता है. ये लोग सोच-विचारों को आसानी से पढ़ने की क्षमता रखते हैं. हृदय से उदारतापूर्ण व संवेदनाशील होते हैं. झूठे और चालाक लोग इन्हें बिल्कुल नापसंद होते हैं. मित्रों से अच्छा भावानात्मक संबंध बना लेते हैं. इन लोगों की सौंदर्य और रोमांस की दुनिया बड़ी कल्पनाशील होती है. इन लोगों की ज़िंदगी में घर के मायने अधिक महत्वपूर्ण स्थान रखते है. अपने कार्य क्षेत्र में अपनी पहचान बनाने के लिये अधिक परिश्रम करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

SEX ना करने से महिलाओं की योनि में आ जाती हैं ये बड़ी समस्‍याएं…

सेक्स करने की बात जब आती है तब