मात्र 400 रुपए में आप भी ले सकते हैं इस शानदार AC का मजा, गर्मी का पता नहीं चलेगा पूरे सीजन

- in ज़रा-हटके
गर्मी का मौसम आते ही देश में कूलर तथा AC की मांग बढ़ जाती है। वर्तमान में बाजार में इनकी बड़ी रेंज उपलब्ध है। आज आप कूलर को 1500 से 3 हजार तक की कीमत में खरीद सकते हैं। वहीं AC करीब 20 हजार से शुरू होते हैं परंतु यहां हम आपको जिस AC के बारे में बता रहें हैं, वह देश का सबसे छोटा AC है। इसकी कीमत भी महज 400 रूपए ही है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसको हर कोई खरीद कर गर्मी में ठंडक का आनंद ले सकता है। आइये अब आपको विस्तार से बताते हैं इसके बारे में।

आपको बता दें कि इसको बनाने वाली कंपनी ने इसको एयर कंडीशन कूलिंग फैन का नाम दिया है। यही कारण है कि इसको AC कहा जाता है, इसमें ठंडी हवा के लिए किसी प्रकार की मशीन नहीं लगाई गई है लेकिन इसमें एक आइस ट्रे दी है। इस आइस ट्रे में आप आइस क्यूब्स रख कर जब चलाते हैं, तो यह आपको ठंडी हवा देने लगता है। इसके अलावा इसमें ब्लेडलेस विंग्स भी दिए गए हैं जो 3 से 4 फिट के दायरे में हवा फेंकते हैं। देश के इस सबसे छोटे AC को आप USB की सहायता से भी चला सकते हैं।

आपको बता दें कि इसको आप USB से पॉवर सप्लाई भी दे सकते हैं। इसको आप मोबाइल चार्जर, लेपटॉप, कंप्यूटर तथा पॉवर बैंक की सहायता से भी चला सकते हैं। यहां तक की आप इसको अपने मोबाइल से USB के जरिये कनेक्ट कर चला सकते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप इसको अपने साथ कहीं भी आसानी से ले जा सकते हैं तथा किसी भी स्थान पर रख कर आसानी से चला सकते हैं।

बोलती तस्वीर: संघर्ष करने वालों को अच्छे फल की प्राप्ति होती हैं

देश का सबसे छोटा AC यदि आप खरीदना चाहते हैं तो आप इसको ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरीकों से खरीद सकते हैं। यह आपको इलेक्ट्रिक आइटम बेचने वाले कई स्टोर पर आसानी से मिल जाता है। लेकिन यदि आप इसको ऑनलाइन मंगवाना चाहते हैं तो आप फ्लिपकार्ट, ईबे, अमेजन, स्नैपडील के साथ साथ अन्य ई कॉमर्स साइट्स से आसानी से मंगवा सकते हैं। 

 

3 Comments

  1. Comment…nice product

    1. Comment…nice product

  2. Comment…sir 1 ac chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नहीं जानते होंगे ये राज की बात, की रेलवे स्टेशन बोर्ड पर क्यों लिखी जाती हैं समुद्र तल की ऊंचाई

भारतीय रेलवे से हम कितना भी सफर कर