राम मंदिर का समर्थन किए बगैर राहुल गांधी नहीं हो सकते सच्चे हिंदू : आचार्य सतेंद्र दास

अयोध्या: राहुल गांधी के ‘शिवभक्त’ अवतार और एक के बाद एक मंदिरों के दर्शन को लेकर अयोध्या के संतों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने कहा कि राहुल गांधी अयोध्या आकर टाट पट्टी में बैठे और रामलला के दर्शन करें. रामलला के दर्शन करने से इनके पूर्वजों के पाप नष्ट हो जाएंगे. राहुल गांधी को रामलला के भव्य मंदिर निर्माण का प्रयास करना चाहिए. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी सार्वजनिक रूप से मंदिर निर्माण का संकल्प लें जिससे उनके अपने और पूर्वजों के सारे पाप नष्ट हो जाएंगे. संतों ने साफ कहा कि जब तक राहुल गांधी राम मंदिर का समर्थन नहीं करते हैं, तब तक वे एक सच्चे हिंदू नहीं हो सकते.

रामलला के पक्षकार महंत धर्मदास ने भी राहुल गांधी के मंदिर दर्शन पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि गांधी परिवार ने कई गलत काम किए हैं. इसिलए, राहुल गांधी अयोध्या आकर जनता से माफी मांगे. वे अपने और परिवार द्वारा की गई गलतियों को स्वीकार करें और अयोध्या की जनता से इसके लिए माफी मांगे.

अयोध्या के संतों ने कहा कि राहुल गांधी कितनी भी पूजा क्यों न कर लें, उन्हें अपने पूर्वजों द्वारा किए गए काम का प्रायश्चित करने के लिए अयोध्या आना ही पड़ेगा. संतों ने कहा कि उनके पूर्वजों ने जो काम किए हैं, उसका परिणाम पूरा देश और अयोध्या झेल रहा है. जब तक राहुल गांधी अयोध्या आकर राम जन्मभूमि का समर्थन नहीं करते हैं, तब तक वे एक सच्चे हिंदू नहीं हो सकते.

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि प्रधानमंत्री देश-विदेश जा रहे हैं. बीजेपी सरकार में सबका साथ सबका विकास हो रहा है. वे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा जा रहे हैं. वे एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनके नेतृत्व में देश में सबका साथ सबका विकास हो रहा है. चुनाव अब नजदीक आ गया है तो राहुल गांधी को मंदिर की याद आई है. राहुल गांधी अयोध्या आकर मंदिरों में जाकर राम-सीता का दर्शन करें, जिससे उनके पूर्वजों के पाप धुल जाएंगे.

बता दें, कैलास मानरसरोवर की यात्रा से लौटने के बाद राहुल गांधी पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं. यहां पहुंचने पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बम-बम भोले के नारे लगाकर उनका स्वागत किया. कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह राहुल गांधी को शिवभक्त के रूप में दर्शाया है. जिस रूप में उन्हें दर्शाया गया है, उसके अनुरूप अमेठी पहुंचते राहुल गांधी ने भगवान शिव की पूजा की और मंदिर के पुजारी से हाथ में कलावा बंधवाया. 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत की संप्रभुता को चुनौती देने वालों को मिलेगा मुंहतोड़ जवाब – मोदी

नई दिल्ली 21 अक्टूबर।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा