IPL: अंतिम छह गेंदो पर जीतते-जीतते हार गई दिल्ली की टीम

- in खेल

दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और उनके गेंदबाजों ने पंजाब को 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 143 रनों पर ही रोक दिया. लग रहा था दिल्ली आसानी से यह लक्ष्य हासिल कर लेगी और अपने घरेलू अभियान की शुरूआत जीत के साथ करेगी, लेकिन हुआ इससे उल्टा. दिल्ली 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 139 रन ही बना सकी.

लेकिन आखिरी ओवर में जो कुछ भी घटा किसी की भी धड़कने बड़ाने के लिए काफी था. आइये जानें कैसे आखिरी ओवर में हार से जीत और फिर हार की तरफ रूख कर गई दिल्ली की टीम.

अंतिम ओवर का रोमांच:

पहली गेंद: आखिरी ओवर में दिल्ली की टीम को जीत के लिए 17 रनों की दरकार थी. अश्विन ने गेंद युवा स्पिनर मुजीब को सौंपी जबकि बल्लेबाज़ी के लिए श्रेयस अय्यर तैयार थे. मुजीब ने लेग साइड की तरफ अच्छी लेंग्थ की गेंद फेंकी. जिसे मारने में अय्यर नाकामयाब रहे और ये गेंद खाली चली गई.

दूसरी गेंद: अब दिल्ली को पांच गेंदों में 17 रनों की ज़रूरत थी. गेंद का सामना करने के लिए एक बार फिर श्रेयस अय्यर. इस बार उन्होंने गेंद को बल्ले से बिल्कुल सही कनेक्ट किया और सीधा फ्लैट सिक्स जड़ दिया. इस छक्के से दिल्ली की उम्मीदें एक बार फिर से ज़िंदा हो गई.

तीसरी गेंद: अब दिल्ली को जीत के लिए 4 गेंदों में 11 रनों की दरकार थी. इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता था. मुजीब की तीसरी गेंद को अय्यर ने खेला लेकिन उन्होंने सिंगल नहीं लिया. अय्यर एख रन लेकर स्ट्राइक बदलना नहीं चाहते थे.

जन्मदिन विशेष: सचिन… सचिन… इस शोर को सुनकर एक अलग सी खुशी मिलती हैं…

चौथी गेंद: दिल्ली के लिए अब ये लक्ष्य मुश्किल बनता दिख रहा था. उन्हें 3 गेंदों में 11 रनों की दरकार थी. ओवर की चौथी गेंद अय्यर के बल्ले पर ठीक से नहीं आई और डीप मिडविकेट पर मिस फील्ड की वजह से उन्होंने दो रन चुरा लिए.

पांचवी गेंद: अंतिम दो गेंदों पर दिल्ली को जीत के लिए 9 रनों की दरकार थी, लेकिन मैच अभी खत्म नहीं हुआ था. इस गेंद पर शॉर्ट फाइन लेग पर फील्डर को चकमा देते हुए अय्यर ने चौका लगा दिया. एक बार फिर मैच में दिल्ली की वापसी हुई.

छठी गेंद: आखिरी गेंद पर अब दिल्ली को मैच टाइ करने के लिए चार रन और जीतने के लिए छक्के की ज़रूरत थी. अय्यर ने इस गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन एक बार फिर मिस टाइमिंग हुई और गेंद लॉंग ऑफ पर खड़े फिंच के हाथों में चली गई.

इसके साथ ही दिल्ली की अपने घरेलू मैदान पर पहली जीत दर्ज करने की उम्मीदें भी 4 रनों से धवस्त हो गई. श्रेयस अय्यक ने अंत तक संघर्ष कर 57 रनों की पारी खेली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

Twitter पर उठी कोच शास्त्री को हटाने की मांग, जानिए BCCI से क्या कह रहे हैं लोग

नई दिल्ली: एशिया कप 2018 में टीम इंडिया शानदार परफॉर्म