पिछले हफ्ते हुए ऐतिहासिक कोरियाई शिखर वार्ता के बाद उत्तर कोरिया ने आपसी संबंधों को और मजबूत करने के लिए दक्षिण कोरिया के टाइम जोन के साथ जुड़ने के लिए आगामी शनिवार से अपनी घड़ी को 30 मिनट आगे बढ़ाने का फैसला किया है. उत्तर कोरिया की आधिकारिक समाचार एजेंसी ने यह जानकारी दी है. वर्ष 2015 से दोनों देशों का टाइम जोन अलग हो गया था.

उस वक्त उत्तर कोरिया ने अपने मानक समय को दक्षिण कोरिया से 30 मिनट पीछे कर दिया था. उस समय कहा गया था कि ऐसा कोरियाई प्रायद्वीप पर 1910-1945 के दौरान जापान के शासन के निशानों को हटाने के लिए किया गया है. इससे पहले दोनों कोरियाई देशों में एक समान मानक समय था. उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में हुई बैठक में उत्तर कोरिया ने पुराने टाइम जोन में लौटने के बारे में फैसला लिया.

केसीएनए ने बताया कि उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ-इन के साथ ऐतिहासिक वार्ता के दौरान अपने पुराने टाइम जोन में फिर से लौटने का वादा किया था.

सिख धर्म के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए अमेरिका में “सिख डे परेड” का आयोजन

उत्तर कोरिया की संसद के सुप्रीम पीपुल्स असेंबली की स्थाई समिति ने दक्षिण कोरिया के मानक समय से देश के मानक समय को सिंक्रोनाइज करने के लिए एक समझौते को मंजूरी दी है, जो इस शनिवार से प्रभावी हो रहा है. किम जोंग ने कहा कि दक्षिण कोरिया के मानक समय को उत्तर कोरिया के अनुकूल करना राष्ट्रीय सुलह और एकता की ओर बढ़ाया गया पहला प्रायोगिक कदम है.