सट्टा किंग का क्रेज भारत में क्यों बढ़ रहा है

  इंडियन सट्टा मटका या सट्टा किंग  एक तरह का लॉटरी का खेल है, इसकी शुरुआत अमेरिका में हुई थी। लेकिन अब सट्टा किंग गेम भारत में भी काफी लोकप्रिय हो गया है। आज के समय में हर कोई जल्द से जल्द अमीर व्यक्ति बनना चाहता है। जिससे वह अपनी सारी जरूरत को पूरा कर सके। ऐसे में कई बार लोग ऐसे गलत संगत में भी पड़ जाते है। जिससे वो वापस भी नही आ पाते।  ऐसे ही एक पैसे कमाने वाला जुआ सट्टा मटका भी है।

दिखने में भले ही केवल यह एक खेल की तरह ही  दिखता हो लेकिन असल में किंग ऑफ सट्टा या सट्टा मटका एक बहुत ही नशे जैसा है , जिसके कई लोग काफी सारा पैसा कमाते है तो कई लोग अपना पैसा हार जाते है। यह एक तरह का सट्टा गेम ही है। सट्टा किंग को सट्टा मटका नाम से भी बुलाते है, क्योंकि पुराने समय में मटके में नंबर डाल दिए जाते थे। सट्टा इंडिया में  खेलना गैरकानूनी है, लेकिन फिर भी लोग सट्टा खेलते है।

सट्टा मटके रिजल्ट में 100 नंबर की पर्ची डालकर पर्ची निकाली जाती हैं।  जिसमें से सिर्फ एक नंबर को विजेता चुना जाता है, उसी की लॉटरी लगती है। इसका मटका जो भी बाकी वह बचे नम्बर चुनता है, वह हार जाता है और अपने पैसा गवा बैठता है।

भारत में बढ़ता सट्टा किंग का क्रेज 

भारत में सट्टा किंग को ऑनलाइन खेलने का क्रेज लोगों के बीच बढ़ता जा रहा है। पुलिस और प्रशासन के लगाम लगाने के बावजूद लोग इसे चोरी छिपे खेलते नजर आते है। पुलिस से बचने के लिए आजकल कई लोग ऑनलाइन सट्टा  खेलते हैं। इससे उनके बारे में किसी को पता तक नहीं चलता है।

जब से ऑनलाइन जमाना आया तब से लोगों के रहन सहन में परिवर्तन आया है। वही सट्टे बाजी के खेल में भारत के लोग भी हिस्सा लेना सिख गए। आज के समय में सट्टा इंडियन का खेल बन गया है। काफी लोग इसे बहुत पैसा भी कमाते है। 

बता दें कि भारत में सट्टा मटका के क्रेज के चलते  सट्टा मटका के कई तरह के गेम्स खेले जाते हैं जैसे कल्याण मटका, कुबेर मटका, सुपर डे मटका,,दी पी बॉस, मैन मुंबई मटका, इंडियन मटका, वाली मटका, बॉस मटका, कुबेर मटका,दिल्ली किंग, मधुर मटका, ब्लैक सट्टा, गली दिसावर, गुरु दिल्ली, मायापुरी,, मुंबई मॉर्निंग आदि।

सट्टा मटका किंग कैसे खेलते हैं

सट्टा मटका में 1 से 100 नंबरों तक की पर्ची डाली जाती है, उसमें से एक यूनिक नंबर पर ही लॉटरी निकलती है। इसी प्रकार ऑनलाइन सट्टा मटका में भी आपको एक नंबर चुनना पड़ता है। सभी नंबरों में से एक नंबर को निकाला जाता है और वही विजेता बन जाता  है। जिसने इस नंबर को चुना होता है, वह पैसे जीत जाते है। बाकी लोग हार जाते है 

बता दें कि लॉटरी प्राइज एक करोड़ तक का होता है, अगर निकलने वाला वो नंबर आपका है तो आप एक मालामाल व्यक्ति बन जाएंगे और अगर नहीं निकला तो आप अपने सारे पैसों से हाथ धो बैठेंगे।

सट्टा मटका  ऑनलाइन क्यों और कैसे खेलते हैं

सट्टा मटका 2022 चार्ट ऑनलाइन भी खेला जाता है। टेक्नोलॉजी की मदद से अब कई तरह के सट्टा मटका  2022 ऑनलाइन खेले जाते हैं। यहां तक कि इसके कई iOS, Android, Apps भी आपके लिए  उपलब्ध हैं। अधिकतर लोग पुलिस से बचने के लिए इस खेल को ऑनलाइन खेलना ही पसंद करते  हैं, क्योंकि इसमें पकड़े जाने का डर बहुत कम होते हैं।

सट्टा किंग क्यों खेलते हैं?

इसका सीधा सा जवाब होते हैं, क्योंकि लोग बिना मेहनत के अमीर बनना हैं, बहुत अधिक पैसा कमाने की चाहते में लोग इसे खेलते है। वही लोगों में सट्टा मटका किंग गेम खेलने का जुनून बढ़ता ही जा रहा है।

सभी जानते हैं कि सट्टा लगाना गैरकानूनी खेल  होता है, पर क्या करें बिना मेहनत के और कम समय में अमीर बनने का लालच उन्हे खेलने के लिए आकर्षित करता है। अगर आप सही तरह से इस खेल को खेले तो आप काफी पैसा इससे कमा सकते है। लत तो हर चीज की बुरी होती है, इसलिए उतना ही पैसा लगाए जितना आप लगा सकते है और पैसा जीतने या हारने पर बार बार न खेले।

सट्टा मटका की सच्चाई 

जैसा कि आप जानते है ,कि सट्टा किंग एक लॉटरी और भाग्य पर आधारित खेल है, जिसमें 100 लोगों में से किसी एक व्यक्ति को ही 1-100 नंबर के बीच विजेता चुना चाहता है और इसके लिए सभी 100 नंबरों को एक मटके में डाला जाता है या फिर ऑनलाइन इनपर सट्टे का खेल खेला जाता है। इंडियन सट्टा बहुत लोकप्रिय है, इसलिए यह खेल भारत में अधिक पसंद किया जाता है।

इन 100 नंबर में से फिर एक पर्ची निकाली जाती है, उस पर्ची में जिसका नंबर होगा वही विजेता बन जाता है, इसका मतलब ये किस्मत का खेल है। इससे आप साफ साफ जान सकते है कि यह एक किस्मत का खेल है। जरूरी नहीं कि आप ही जीते । क्योंकि 100 नंबर्स में से सिर्फ एक नंबर को ही विजेता बनाया जाता है।

वही वास्तव में सट्टा मटका  की सच्चाई यह है कि वो मटके में नंबर डाल कर किसी एक पर्ची को नहीं उठाता है, बल्कि 100 नंबरों पर लगाए गए सट्टे के पैसों के विवरण की जांच करते है कि किस नंबर पर सबसे कम लोगों ने पैसा लगाया है।

उसके बाद जिस नंबर पर सबसे कम पैसा लगाया हुआ होता है , वह उसी नंबर को विजेता घोषित कर देते है। इससे उनके पैसे बच जाते है। उन्हे काफी मुनाफा भी होता है। मतलब विजेता कौन होगा यह किस्मत के साथ साथ सट्टा किंग पर भी निर्भर करता है।

बहुत से लोग यह जानते हैं, लेकिन फिर भी अनजान बने रहते  हैं और सोचते हैं कि काश ऐसा ना हो और काश हम ही इस बार सट्टा मटका के विजेता बन जाए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × 3 =

Back to top button