आखिर राहुल गांधी से क्यों माफी मंगवाना चाहते हैं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जस्टिस लोया मामले में दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जस्टिस लोया की मृत्यु के मामले में राजनीतिक साजिश और राष्ट्रपति पर भी दबाव बनाने की कोशिश के लिए राहुल को देश से माफी मांगनी चाहिए। आखिर राहुल गांधी से क्यों माफी मंगवाना चाहते हैं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

गुरुवार को अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि जस्टिस लोया की मौत के मामले में दायर जनहित याचिका पर भारत के मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता में तीन न्यायाधीशों की पीठ के फैसले ने राहुल गांधी और कांग्रेस की पोल खोलकर रख दी है। 150 सांसदों को लेकर राहुल ने उक्त मामले में राष्ट्रपति से मुलाकात कर दबाव बनाने की कोशिश की थी। सुप्रीम कोर्ट को भी बरगलाने का प्रयास किया जा रहा था।

यह याचिका राजनीतिक बदले की भावना से दाखिल की गई थी। यानी एक षडयंत्रकारी जनहित याचिका, जिसके पीछे एक अदृश्य हाथ है। यही नहीं, याचिकाकर्ताओं की ओर से सुप्रीम कोर्ट को भी बदनाम करने की साजिश भी की गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांधी परिवार की परिवारवादी राजनीति को देश बर्दाश्त करने को तैयार नहीं है। देश की जनता परिवारवाद को जवाब दे चुकी है, लेकिन राहुल सबक सीखने को तैयार नहीं हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कुशल रणनीतिकार के तौर पर सामने आने के बाद उन्हें अपमानित करने व राजनीतिक रूप से समाप्त करने का प्रयास किया गया।

गांधी परिवार को लगता है कि देश की बागडोर उन्हीं के हाथ में रहनी चाहिए। यदि कोई गरीब या पिछड़ा देश की सेवा करना चाहता है तो उसके खिलाफ राजनीतिक षडयंत्र किया जाता है। कोर्ट के परिसर में पिछले दिनों कुछ अधिवक्ताओं ने भी सोशल मीडिया के माध्यम से मर्यादा के विपरीत काम किया था। इन अधिवक्ताओं ने जनहित याचिका का दुरुपयोग करते हुए इसे निजी स्वार्थ के लिए ये आचरण दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय है। देश के सामाजिक सौहार्द को बिगाडऩे का प्रयास किया जा रहा है। भाजपा ऐसे किसी भी षडयंत्र को सफल नहीं होने देगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ा खुलासा: अखिलेश सरकार में हुआ 97 हजार करोड़ रुपए का घोटाला

लखनऊ: नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (CAG) की रिपोर्ट में समाजवादी