युवकों को जब सीएम नीतीश ने कहा-ए बाबू, चे-चे नहीं करो, शादी किससे करोगे…

दरभंगा। प्रधानमंत्री विस्तारित उज्ज्वला योजना के राष्ट्रीय शुभारंभ पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब सभा को संबोधित कर रहे थे तो पंडाल में दक्षिण दिशा से कुछ युवक बीच-बीच में हुल्लड़बाजी कर रहे थे। शुरू में तो मुख्यमंत्री ने इसे नजरअंदाज कर दिया, लेकिन भाषण समाप्त होने से पहले जब हो-हल्ला ज्यादा होने लगा तो उन्होंने टोक दिया। नीतीश बोले, जिन लोगों को कुछ कहना है वे मंच के नीचे आएं। मैं लोगों की समस्या सुनने के बाद ही यहां से जाऊंगा। इसके बाद भी दो-चार युवक जब शांत नहीं हुए तो मुख्यमंत्री अपनी शैली में आ गए।युवकों को जब सीएम नीतीश ने कहा-ए बाबू, चे-चे नहीं करो, शादी किससे करोगे...

मंच से नीचे आकर उन्होंने कहा, ‘ए बाबू चे-चे नहीं करो, महिला नहीं रहेगी तो शादी किससे करोगे? तुम्हारी पीढ़ी कैसे बढ़ेगी? महिला सशक्तीकरण की बात कर रहे हैं तो उसे सुनो, समझो और महिलाओं को अपना अधिकार प्राप्त करने दो।’ उसके बाद सभा में शांति पसर गई और लोगों ने अंत तक उनकी बात सुनी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि बिहार और केंद्र सरकार की योजनाएं समाज के उत्थान के लिए हैं। विकास का मतलब केवल सड़क और बिजली नहीं, बल्कि ऐसी योजना जिससे पूरे समाज को फायदा हो। दरभंगा जिले के बहेड़ी स्थित शांति नायक उच्च विद्यालय परिसर से विस्तारित प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का राष्ट्रीय शुभारंभ करने के बाद मुख्यमंत्री समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मौके पर उन्होंने पांच महिलाओं के बीच निश्शुल्क गैस कनेक्शन का वितरण किया। इस मौके पर केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव और खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री मदन सहनी आदि मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के गरीबों के लिए यह बड़ी योजना है। पहले सांसद की अनुशंसा पर गैस कनेक्शन मिलता था। केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री के निर्देश पर काम किया तो गरीबों को गैस सिलेंडर मिलने लगा। विस्तारित उज्ज्वला योजना के बाद मुश्किल से दो-तीन प्रतिशत लोग ही गैस कनेक्शन से बचेंगे।

गैस कनेक्शन महिला के नाम से दिया जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सशक्तीकरण को ध्यान में रखकर गैस कनेक्शन महिला के नाम से ही दिया जाएगा। लकड़ी और गोइंठा से खाना बनाने में महिलाओं को धुएं से काफी परेशानी होती थी। बीमार हो जाती थीं। गैस कनेक्शन से पर्यावरण के साथ स्वास्थ्य की भी सुरक्षा होगी। अगलगी की घटनाएं नहीं के बराबर होंगी। उन्होंने कहा कि शिशुकाल से शादी तक हमने कन्या के कल्याण की पूरी योजना बनाई है। अब लड़की के पैदा होते ही माता-पिता के खाते में दो हजार रुपये देंगे। पढ़ाई, टीकाकरण और डे्रस सहित अन्य के लिए पैसे देंगे।लोकतंत्र पर विश्वास और भरोसा बढ़ेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने साइकिल एवं पोशाक योजना सबके लिए कर दी। गैस कनेक्शन सबके लिए हो गया। हमने सात निश्चय तय किया है। घर-घर में शौचालय, बिजली, पक्की गली एवं नाली का निर्माण, हर घर तक नल का जल पहुंच गया तो क्या समस्या रहेगी। साल के अंत तक सभी को बिजली का कनेक्शन मिल जाएगा। प्रत्येक वार्ड में हर घर तक नाली का निर्माण अगले चार साल में हो जाएगा। विकास कार्यों से जनता का विश्वास लोकतंत्र पर और  बढ़ेगा। लोकतंत्र मजबूत होगा तो समाज मजबूत होगा।

भाईचारे का वातावरण बनाकर रखिए

समाज में प्रेम, भाईचारा और सद्भावना बनाकर रखिए। इससे समाज आगे बढ़ता है। किसी भी धर्म, जाति के हों, सबका कल्याण करना है। जो महादलित को सुविधा दे रहे थे, रामविलास के अनुरोध पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति को भी दे रहे हैं। इस योजना के लिए ज्ञान की भूमि दरभंगा के बहेड़ी का चयन करने के लिए उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की प्रशंसा की। कहा कि जिस तरह देश का विकास बिहार के विकास के बिना संभव नहीं है, उसी तरह बिहार का विकास मिथिला के विकास के बिना संभव नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दो दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी, 87 करोड़ लागत की योजनाओं का किया लोकार्पण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को