राशन घोटाले में जब 1,550 घरों का राशन सिर्फ 11 नंबरों पर दिया गया तो AAP LG को बताया दोषी

नई दिल्ली। दिल्‍ली में राशन घोटाले को लेकर हाल ही में आई कैग की रिपोर्ट ने केजरीवाल सरकार के सभी दावों की कलई खोल कर कर रख दी। रिपोर्ट पर दिल्‍ली सरकार की खूब किरकिरी हुई। अब सरकार ने खुद के बचाव के लिए उपराज्यपाल और अधिकारियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। दिल्‍ली सरकार का कहना है कि दिल्‍ली में राशन घोटाले के ऐसे मामले सामने आए हैं, जिसमें एक ही मोबाइल नंबर से ओटीपी के जरिए 499 घरों के लिए राशन दिया गया।राशन घोटाले में जब 1,550 घरों का राशन सिर्फ 11 नंबरों पर दिया गया तो AAP LG को बताया दोषी

एक अन्य मामले का हवाला देते हुए सरकार ने कहा कि 202 घरों का राशन एक नंबर पर दिया गया और 172 घरों का राशन एक नंबर पर दिया गया। उन्होंने कहा कि इसी तरह से करीब 1,550 घरों का राशन सिर्फ 11 नंबरों पर दिया गया।

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने शहर में राशन वितरण में धांधली पाई है। सिसोदिया ने उपराज्यपाल (एलजी) अनिल बैजल से खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के आयुक्त को बर्खास्त करने, वर्तमान वितरण प्रणाली को तत्काल बंद करने व दरवाजे पर राशन वितरण की योजना को मंजूरी देने का आग्रह भी किया है।

 मनीष सिसोदिया ने बताया कैसे हुई राशन धांधली 

1- दिल्ली में 72 लाख लोग सरकारी राशन पर आश्रित हैं। दिल्ली में कुल 19 लाख कार्ड धारक हैं। सरकार की ओर से प्रतिवर्ष इन्हें साढ़े 4 लाख टन राशन दिया जाता है।

2- आप सरकार बनने से पहले और उसके बाद भी राशन चोरी रोकने के लिए हमने संघर्ष किया है। अब भी दिल्ली की झुग्गियों में ये चोरी रोकने की कोशिश की जा रही है, लेकिन अधिकारियों को एलजी का संरक्षण मिला हुआ है। इसके चलते आज भी राशन में धांधली की जा रही है।

3- राशन की बिक्री के लिए ई पीओएस सिस्टम लगाया गया है। दिसंबर में यह सिस्टम पहले 90 दिनों के लिए लगाया गया। वहां फिंगर प्रिंट में दिक्कत आती थी और उसमें ढेरों खामियां थी।

4- इस साल 1 जनवरी से पूरी दिल्ली में ई पीओएस लागू हुआ, उसमें दिल्‍ली सरकार ने ए सुझाव केबिनेट की ओर से दिए गए थे, ताकि लोगों को इंटरनेट की कमी से परेशानी न हो लेकिन ऑफ लाइन को एलजी ने नहीं माना।

5- केबिनेट के निर्देश के बावजूद उसमें खामी छोड़ी गई। 21 फरवरी के दिन मैंने इस परेशानी की जानकारी भी दी। ई पीओएस खत्म करने की अपील की, लेकिन एलजी ने नहीं माना.

6- 499 राशन कार्ड धारकों का ओटीपी एक मोबाइल नंबर पर है। मंत्री के आदेश के बाद ओटीपी सिस्टम को बंद कर दिया गया। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई कि एक ही मोबाइल नंबर पर भेजे गए 499 राशन कार्ड धारकों का राशन दिया गया।

7- इसी तरह 202 घरों के राशन एक मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी के जरिए दिया गया। 172 घरों के राशन में भी यही हुआ। आदर्श नगर इलाके में एक ही नंबर पर कई लोगों को राशन दिया गया। 41000 घरों का राशन चंद मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी पर दिए गए। ऐसे 500 मोबाइल नंबर की सीरीज है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button